Thursday , November 23 2017
Home / Hyderabad News / कमिशनर अक़लीयती बहबूद एम ए वहीद को अफ़राद ख़ानदान के सात जान से मारने की धमकी

कमिशनर अक़लीयती बहबूद एम ए वहीद को अफ़राद ख़ानदान के सात जान से मारने की धमकी

हैदराबाद 26 अप्रैल: बदउनवानीयों की रोक थाम और क़वाइद पर सख़्ती से अमल आवरी को यक़ीनी बनाने वाले ओहदेदारों के लिए किसी भी इदारे में काम करना आसान नहीं है।

हैदराबाद 26 अप्रैल: बदउनवानीयों की रोक थाम और क़वाइद पर सख़्ती से अमल आवरी को यक़ीनी बनाने वाले ओहदेदारों के लिए किसी भी इदारे में काम करना आसान नहीं है।

ईमानदार ओहदेदारों को तरह तरह के मसाइल और आज़माईशों से गुज़रना पड़ता है। कुछ यही हाल इन दिनों कमिशनर अक़लीयती बहबूद और मैनेजिंग डायरेक्टर अक़लीयती र फाइनेंस कारपोरेशन एम ए वहीद का है जिन्हें बाअज़ नामालूम अफ़राद की तरफ से पिछ्ले चंद दिनों से बम से उड़ादेने और अफ़राद ख़ानदान को जान से मार देने की मुसलसिल धमकीयां दी जा रही हैं।

दिलचस्प बात तो ये है कि पुलिस में बाक़ायदा शिकायत दर्ज कराने के बावजूद ताहाल पुलिस ने ख़ातियों की निशानदेही नहीं की और ना ही कमिशनर अक़लीयती बहबूद को तहफ़्फ़ुज़ फ़राहम करने के लिए कोई क़दम उठाए।

नामालूम अश्रार की तरफ से धमकीयों के बावजूद एम ए वहीद किसी सेक्यूरिटी की परवाह किए बगै़र बेखौफ होकर अपनी ख़िदमात जारी रखे हुए हैं।

उन्हें दी जा रही धमकीयों का भी उन्हों ने किसी से खासतौर पर मीडीया से तज़किरा नहीं किया बल्के अपने एक पुलिस ओहदेदार दोस्त से इस का ज़िक्र किया जिस के बाद ये मुआमले पुलिस तक पहुंचा।

बताया जाता है कि दो हफ़्तों से एक नामालूम शख़्स मुख़्तलिफ़ मोबाईल नंबर्स से एम ए वहीद को उन के मोबाईल फ़ोन पर धमकीयां दे रहा था जिस का ज़िक्र उन्हों ने सेंट्रल क्राइम स्टेशन के अपने एक दोस्त ओहदेदार से किया।

जिस पर उन्हों ने मालूमात कीं और बताया कि मुख़्तलिफ़ पब्लिक टेलीफ़ोन बोथस से ये फ़ोन किया जा रहा है। इस ओहदेदार के मश्वेरे पर एम ए वहीद ने पुलिस स्टेशन आबडज़ में दस दिन पहले फ़ोन नंबरात के साथ बाक़ायदा तहरीरी शिकायत दर्ज कराई लेकिन आज तक कोई नतीजा बरामद नहीं हुआ।

बताया जाता है कि ये मोबाईल नंबर्स टेलीफ़ोन बोथस के हैं। एक नंबर से कई बार फ़ोन किया गया जबके दो मुख़्तलिफ़ नंबरों से भी फ़ोन आते रहे।

फ़ोन करने वाला एक ही शख़्स है और टूटी फूटी उर्दू ज़बान में बात कररहा है। इस का एक ही मुतालिबा है कि मग़रिबी गोदावरी में अक़लीयती फाइनेंस कारपोरेशन के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर, क्लर्क और अटंडर का अंदरून चौबीस घंटे तबादला किया जाये।

इस ने तबादला की वजूहात नहीं बताई सिर्फ़ मुसलसिल ये धमकी दे रहा है कि तबादिला ना करने की सूरत में उन्हें और उन के बच्चों को बम से उड़ा देगा।

6 मार्च को पहलि धमकी आमेज़ टेलीफ़ोन काल मौसूल हुआ और 30 मार्च को पुलिस आबडज़ में शिकायत दर्ज कराई गई। बताया जाता है कि इस शिकायत को ए सी पी सेंट्रल क्राईम स्टेशन से रुजू किया गया है।

इसी दौरान 17 अप्रैल को इसी मुतालिबे के साथ एक धमकी आमेज़ मकतूब वसूल हुआ जिसे पुलिस आला ओहदेदारों के हवाले किया जाएगा।

शुबा किया जा रहा है कि धमकीयों के पसेपर्दा कारपोरेशन से वाबस्ता बाअज़ अफ़राद मुलव्वस हैं जो अपनी पसंद के अफ़राद को मग़रिबी गोदावरी में रकना चाहते हैं और जनाब एम ए वहीद पर तबादलों के लिए दबाव‌ डालने के लिए इस तरह की धमकीयों का सहारा लिया जा रहा है।

एम ए वहीद ने कारपोरेशन के रीजनल ऑफीसर करनूल को हिदायत दी है कि वो मग़रिबी गोदावरी के इन तीनों मुलाज़मीन के काम के बारे में मालूमात करते हुए एक रिपोर्ट पेश करे।

बताया जाता है कि कारपोरेशन में अज़ला की सतह पर तबादलों का अमल शुरू होने वाला है इस पर असरअंदाज़ होने के लिए होसकता है कि कुछ लोगों ने धमकीयों का सहारा लिया हो।

TOPPOPULARRECENT