Tuesday , July 17 2018

कम्युनिकेशन सटलाईट GSAT-18 सफलतापूर्वक दाग़ा गया

बेंगलुरु: दूरसंचार सेवाओं को एक नया आयाम प्रदान करते हुए भारत ने समकालीन कम्युनिकेशन सटलाईट GSAT-18 फ्रेंच मानो अंतरिक्ष सत्र से सफलता के बाद दागा इस सटलाईट टेलीविजन, टेलीफोन कम्युनिकेशन, वी सेट और डिजिटल सटलाईट समाचार सेवाओं को और अधिक प्रभावी बनाने में सहायक होगा।

सटलाईट दागने में एक दिन की देरी हुई जिसके बाद यूरोपियन लांचर ईरीन। 5 VA-231 से 2 बजे रात उसे सफलतापूर्वक प्रक्षेपित गया। बताया जाता हैके नासाज़गार मौसम के कारण यह देरी हुई। GSAT-18 के द्वारा इसरो के मौजूदा 14 टेलीकॉम सटलाईटस अधिक स्थिरता प्राप्त होगा। इंडियन स्पेस रिसर्च आर्गेनाइजेशन (इसरो) के बेंगलुरु मुख्यालय पर सटलाईट प्रारंभिक रिपोर्ट बेहतर रही। लगभग 32 मिनट और 28 सेकंड के बाद GSAT-18 ईरीन। 5 से अलग हो गया और कक्षा में प्रवेश हो गया। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने GSAT-18 के सफलतापूर्वक दागे जाने पर इसरो को बधाई दी।

TOPPOPULARRECENT