Sunday , January 21 2018

करीमनगर में यौम क़ानून हक़ मालूमात प्रोग्राम का इनइक़ाद

सरकारी मुलाज़मीन को चाहीए कि क़ानून हक़ मालूमात पर ज़हन साज़ी करलीं तो इंतेज़ामीया में शफ़्फ़ाफ़ियत होगी और जवाबदेही का ज़िम्मे दारान को एहसास पैदा होगा।

सरकारी मुलाज़मीन को चाहीए कि क़ानून हक़ मालूमात पर ज़हन साज़ी करलीं तो इंतेज़ामीया में शफ़्फ़ाफ़ियत होगी और जवाबदेही का ज़िम्मे दारान को एहसास पैदा होगा।

क़ानून हक़ मालूमात ज़िला कमेटी सदर आर चंद्रा प्रभाकर ने ये बात कही।उन्होंने कहा कि क़ानून हक़ मालूमात के कमिश्नर्स के तक़र्रुत में भी सयासी मुदाख़िलत की वजह से क़ानून हक़ मालूमात की अमल आवरी में रुकावट पैदा होरही है।

ज़िला सेक्रेटरी एस वेंकटेश्वर ने कहा कि क़ानून हक़ मालूमात बेदारी के लिए मंडल की सतह पर बेदारी कैंप मुनाक़िद किए गए हैं। एज़ाज़ी सदर एन श्रीनिवास , एम गंगा धर, टी गंगा राव‌ , के रामचंद्र रेड्डी, मुज़फ़्फ़र, नारायण वग़ैरा इस मौके पर मौजूद थे।

TOPPOPULARRECENT