Tuesday , December 12 2017

करीम और मूसा के गोल फ़्रांस नाक आउट मरहला में दाख़िल

करीम बेनज़ीमाने रवां वर्ल्ड कप में अपना तीसरा गोल करलिया है और ब्राज़ील में जारी वर्ल्ड कप में गुजिश्ता रोज़ खेले गए ग्रुप ई के मुक़ाबलों में फ़्रांस ने स्विटज़रलैंड को और इक्वाडोर ने होंडा रूस को मात दे दी है। पहले मैच में फ़्रांस न

करीम बेनज़ीमाने रवां वर्ल्ड कप में अपना तीसरा गोल करलिया है और ब्राज़ील में जारी वर्ल्ड कप में गुजिश्ता रोज़ खेले गए ग्रुप ई के मुक़ाबलों में फ़्रांस ने स्विटज़रलैंड को और इक्वाडोर ने होंडा रूस को मात दे दी है। पहले मैच में फ़्रांस ने स्विटज़रलैंड को 5-2 गोल से मात दे दी है।

इस फ़तह के नतीजे में जहां फ़्रांस ग्रुप ई में सर-ए-फ़हरिस्त आ गया है वहीं इसके अगले मरहले में पहुँचने के इमकानात भी रोशन होगए हैं। इस मैच में सुइस टीम फ़्रांस के सामने एक कलब दर्जे की टीम नज़र आई। मैच के दौरान सुइस गोल पर लगातार हमलों के बाद ऐसा लग रहा था कि ये मैच सिर्फ़ सुइस गोलकीपर और फ़्रांसीसी स्ट्राईकर्स के बीच‌ खेला जा रहा है।

सेलवा डोर में खेले जाने वाले मैच की शुरूआत निसबतन आहिस्ता रहें ताहम शुरुआती 15 मिनट के बाद फ़्रांस के खेल और हमलों में तेज़ी आ गई। इस तेज़ी का नतीजा मैच के 17 वीं मिनट में 20 सेकंड्स के फ़र्क़ से फ़्रांस के दो गोल्स की शक्ल में बरामद हुआ। अपनी टीम को बुरी तरह हारते देख कर सुइस तमाशाई मायूस नज़र आए।

पहला गोल इस वर्ल्ड कप में अपना पहला मैच खेलने वाले ओलीविय‌र जीरोड ने कॉर्नर किक पर हेडर के ज़रीया किया। ये फ़्रांस का वर्ल्ड कप में 100 वां गोल भी था। इस के चंद लम्हे बाद ही बुलाईस मीतोईदी के गोल की बदौलत फ़्रांस की बरतरी दोगुनी होगई। फ़्रांस की इस बरतरी को ख़त्म करने के लिए सुइस फ़ारवर्ड ज़ाहका ने गोल तो किया लेकिन रैफ़री ने पहले ही आफ़ साईड का झंडा बुलंद कर दिया था और इसतरह ये कोशिश बेकार‌ गई।

इसी दौरान फ़्रांसीसी स्ट्राईकर करीम मुस्तफा बीनज़ीमा को स्विटज़रलैंड के दिफ़ाई खिलाड़ी डजोरो ने डी में गिरा दिया जिस पर फ़्रांस को पनालटी मिल गई। पनालटी लगाने का मौक़ा बीनज़ीमा को ही दिया गया लेकिन उनकी किक सुइस कीपर बैनगा लियो ने रोक ली और फ़्रांस की बरतरी में इज़ाफे़ का मौक़ा कुछ देर के लिए टल गया।

जल्द ही फ़्रांस के लिए पहला गोल करने वाले जरीओद ने सुइस डी में वालबोईनाको एक उम्दा पास दिया जिन्हों ने बरतरी तीन गोल करने में कोई ग़लती ना की। करीम पनालटी पर तो गोल ना कर सके लेकिन 67 वीं मिनट में उन्होंने सुइस दिफ़ाई खिलाड़ी की ग़लती का फ़ायदा उठाते हुए टीम का चौथा गोल कर दिया।

ये वर्ल्ड कप में करीम बीनज़ीमा का तीसरा इन्फ़िरादी गोल था। मैच के 73 वीं मिनट में मूसा सीसोको के गोल की बदौलत जब फ़्रांस ने 5-0 की बरतरी हासिल की तो लगता था कि सुइस टीम हिम्मत हार बैठी है। ताहम पाँच गोल के ख़सारे में जाने के बाद आख़िरी चंद मिनट में सुइस टीम ने दो गोल कर के स्कोर कुछ बेहतर बना दिया।खेल के आख़िरी लम्हे में करीम बीनज़ीमा ने फ़्रांस की जानिब से छटी बार गेंद सुइस गोल में पहुंचाई लेकिन ये गोल इस लिए क़बूल नहीं किया गया कि रैफ़री गेंद गोल में पहुंचने से पहले मैच ख़त्म होने की सीटी बजा चुके थे।

TOPPOPULARRECENT