कर्नाटक असेम्बली में हंगामा, किसानों की गिरफ्तारी के खिलाफ भाजपा का विरोध

कर्नाटक असेम्बली में हंगामा, किसानों की गिरफ्तारी के खिलाफ भाजपा का विरोध
Click for full image

कर्नाटक: कर्नाटक के शीतकालीन सत्र का आज अशांत शुरू हुई जबकि विपक्षी भाजपा विरोध किसानों की गिरफ्तारी के खिलाफ सदन के बीच आ गए। विधानसभा के 10 दिवसीय बैठक की कार्यवाही शुरू होते ही भाजपा नेता जगदीश शीटर ने किसानों की गिरफ्तारी का मुद्दा उठाया और सरकार से इस मामले में जवाब मांगा।

किसानों की गिरफ्तारी की निंदा करने वाले जगदीश शीटर उसे अलोकतांत्रिक और कांग्रेस के नेतृत्व वाली सरकार को तुगलक सरकार करार दिया। उन्होंने यह सवाल किया कि शांतिपूर्ण विरोध करने वाले किसानों को क्यों गिरफ्तार किया गया है। जबकि राज्य भर में किसान समुदाय कई एक समस्या सहित नीशकर फसल के लिए लाभदायक मूल्य निर्धारण और बकाया भुगतान की मांग का विरोध कर रहे हैं।

भाजपा सदस्यों ने सदन के बीच में पहुंचकर सरकार के खिलाफ नारे बुलंद किए। इस बीच अध्यक्ष ने मुख्यमंत्री सदारामया कहाँ कि इस मामले मे वो अपनी प्रतिक्रिया दे हालांकि जैसे ही मुख्यमंत्री खड़े हुए जगदीश शीटर ने जोर देकर कहा कि किसानों की गिरफ्तारी पर सरकार को समझाने के बाद शोक बयान दिया जाए। जिस पर मुख्यमंत्री ने बताया कि पुलिस से कहा गया है कि गिरफ्तार किसानों को रिहा कर दिया जाए।

उन्होंने कहा कि किसानों के हितों की रक्षा के लिए भाजपा से सबक सीखने की जरूरत नहीं है। चूंकि सड़कों पर विरोध जताते हुए यातायात रोक दी जा रही थी जिसके कारण एहतियाती उपाय के रूप में उन्हें हिरासत में लिया गया। सदारामया ने कहा कि सिर्फ भाजपा के दबाव में आकर यह कदम नहीं किए जा रहे हैं। इसके बाद भाजपा सदस्य अपनी सीटों पर लौट गए।

Top Stories