कर्नाटक का ‘नाटक’ जारी: कांग्रेस ने भी विधायकों को रिजॉर्ट में किया ‘बंद’

कर्नाटक का ‘नाटक’ जारी: कांग्रेस ने भी विधायकों को रिजॉर्ट में किया ‘बंद’

कर्नाटक (Karnataka) में सियासी घमासान अभी थमा नहीं है. कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन को अब भी डर है कि कहीं बीजेपी ऑपरेशन लोटस को सफल कराने के लिए उनके विधायक न तोड़ दें. इसलिए कांग्रेस ने एहतियातन बीजेपी की तर्ज पर ही अब बड़ा कदम उठाया है. कर्नाटक में कांग्रेस-जेडीएस की साझा सरकार भले ही बच गई हो लेकिन कांग्रेस ने अपने सभी विधायकों को फ़िलहाल बाहरी बेंगलूरु के एक रिसॉर्ट में रखने का फ़ैसला किया है, जब तक बीजेपी के सभी विधायक गुरूग्राम से वापस कर्नाटेक न लौट आएं. बता दें कि शनिवार की सुबह कर्नाटक बीजेपी के अध्यक्ष बीएस येदियुरप्पा ने गुरुग्राम में डेरा जमाए सभी BJP विधायकों को वापस बुलाया है.

सिद्धरमैया ने कहा, “हमारे सभी विधायक एक साथ रहेंगे. हम वहां सूखे की स्थिति पर चर्चा करेंगे. हमारे सभी विधायक, सांसद और मंत्री एक स्थान पर रहेंगे…जब तक जरूरी होगा, हम रहेंगे.” उन्होंने यहां पत्रकारों से कहा, “हम पार्टी के मुद्दों के बारे में चर्चा करेंगे…भाजपा के हमले से बचने के लिए. हम सूखा, लोकसभा चुनाव के बारे में भी चर्चा करेंगे.”

कांग्रेस के शीर्ष सूत्रों के अनुसार, पार्टी के कम से कम आठ विधायकों ने पाला बदलने का वादा किया था. सूत्रों ने कहा कि इससे बचने के लिए विधायकों को शहर के बाहरी इलाके में स्थित एक रिसॉर्ट ले जाया जाया गया. कांग्रेस विधायक दल की बैठक के बाद सभी 75 विधायकों को बस में भर कर बाहरी बेंगलुरु के एक रिसोर्ट ले जाया गया. बीजेपी विधायकों की गुरुग्राम से वापसी तक ये सभी विधायक वहीं रहेंगे. लेकिन जब विधायक दल के नेता सिद्धहरमैय्या से पूछा गया कि अब वो ऐसा क्यो कर रहे हैं तो उन्होंने बीजेपी नेता येदियुरप्पा की भाषा में जवाब दिया.

 

सिद्धारमैया ने हालांकि, इस बारे में कहा कि हम लोग विधायकों को लोक सभा चुनावों की स्ट्रेटेजी तैये करने के लिए रिसोर्ट जा रहे हैं. बता दें कि गरुग्राम से वापस लौटने के बाद येदियुरप्पा ने भी यही कहा था कि वो गुरुग्राम में अपने विधयकों के साथ लोकसभा चुनावों की रणनीति तय कर रहे थे. उधर बेंगलुरु में शुक्रवार को कांग्रेस विधायक दल की बैठक में 4 बागी विधायकों के इलावा सभी मौजूद थे.

Top Stories