Thursday , December 14 2017

कर्नाटक: गांवों में बूंद बूंद पानी के लिए तरस रहे हैं लोग

बेगलुरु: कर्नाटक में पीने के पानी की समस्या दिन प्रतिदिन गंभीर होता जा रहा है। लोगों को एक घड़ा पानी के लिए घंटों इंतजार करना पड़ रहा है। गदग जिले में लोग पीने के पानी के लिए काफी परेशान हैं। जिले में बूंद बूंद पानी के लिए तरसने की स्थिति पैदा हो गई है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

न्यूज़ नेटवर्क समूह न्यूज़ 18 के अनुसार उत्तरी कर्नाटक के गदग जिले के चकावडिटी गांवों में पीने के पानी के लिए जानवरों को भी दर-दर भटकना पड़ रहा है। इस गांव में लगभग तीन हजार लोग रह रहे हैं।

लोगों को दैनिक पीने के पानी की कमी का सामना करना पड़ता है। शहर में जिस तरह हर घर में एक कार है। इसी तरह इस गांव में हर घर में पानी के घड़े लादने वाली साइकिल देखने को मिलती हैं।

स्थानीय लोगों का कहना है कि रोज़ दोपहर तीन बजे से शाम पांच बजे और देर रात दो बजे से सुबह पांच बजे तक 3 फेस बिजली की सुविधा प्रदान की जाती है। उसी समय पूरे गांवों को बोरवेल का पानी सप्लाई होता है।

कुछ घड़े पानी के लिए लोगों को नींद कुर्बान करनी पड़ रही हैं। केवल छह घड़े पानी में कैसे जीवन जिया जा सकता है, कोई यहां आकर देखे।
यही पानी न केवल पीने बल्कि पकवान, कपड़े की सफाई और जानवरों के पीने के लिए इस्तेमाल करना पड़ता है। पानी के मामले को लेकर स्थानीय लोगों ने पंचायत का भी बहिष्कार किया है।

निर्धारित समय पर बारिश न होने के कारण आज कर्नाटक की जनता को बूंद बूंद पानी के लिए तरसना पड़ता है। गर्मी के मौसम में लोगों की परेशानी और बढ़ जाएगी, क्योंकि इससे पहले ही जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों को पीने के पानी की सुविधा के लिए उचित कदम उठाने की सख्त जरूरत है।

TOPPOPULARRECENT