Monday , December 18 2017

कर्नाटक में गावकशी क़ानून बरख़ास्त कांग्रेस हुकूमत का फ़ैसला

बैंगलूर 24 अगस्त (सियासत डाट काम) कांग्रेस हुकूमत ने कर्नाटक की साबिक़ बी जे पी हुकूमत के गावकशी पर इमतिना के फ़ैसले को वापिस ले लिया है। बी जे पी हुकूमत ने गावकशी रोकने के लिए सख़्त तरीन क़ानून नाफ़िज़ किया था।

बैंगलूर 24 अगस्त (सियासत डाट काम)

कांग्रेस हुकूमत ने कर्नाटक की साबिक़ बी जे पी हुकूमत के गावकशी पर इमतिना के फ़ैसले को वापिस ले लिया है। बी जे पी हुकूमत ने गावकशी रोकने के लिए सख़्त तरीन क़ानून नाफ़िज़ किया था।

चीफ़ मिनिस्टर सिद्दा रामैया की ज़ेर-ए-क़ियादत काबीना के इजलास में फ़ैसला किया गया कि कर्नाटक में गाव और मवेशी कशी इंसिदाद क़ानून 1964 को बहाल कर दिया गया है। वज़ीर-ए-क़ानून टी बी जयचंद्रा ने कहा कि रियासत में मवेशियों को ज़ुब्ह करने से मुताल्लिक़ पहले से क़वानीन मौजूद हैं।

बी जे पी हुकूमत के दौरान असेंबली और क़ानूनसाज़ कौंसल दोनों ऐवानों की जानिब से गावकशी को रोकने के लिए सख़्त तरीन क़ानून मंज़ूर किया गया था। उस वक़्त कांग्रेस अपोज़िशन जमात थी और सिद्दा रामैया इस के लीडर थे। उन्हों ने कहा कि गावकशी पर पाबंदी से बड़े जानवर का गोश्त खाने वालों को मुश्किलात पेश आयेंगी।

TOPPOPULARRECENT