Wednesday , January 24 2018

कर्नाटक में गो कुशी (Cow Slaughter) पर इम्तिना बर्ख़ास्त

बैंगलोर, 15 मई: ( एजेंसी) के सिद्दारामिया ( Siddaramaiah )जिन्होंने कर्नाटक के 22 वीं चीफ़ मिनिस्टर की हैसियत से मंगल को जायज़ा हासिल किया , उन्हें तूफ़ानी क़ानूनसाज़ असेंबली सेशन का सामना होने वाला है । हलफ़ बर्दारी के बाद उन्होंने जो फ़ैसले किए

बैंगलोर, 15 मई: ( एजेंसी) के सिद्दारामिया ( Siddaramaiah )जिन्होंने कर्नाटक के 22 वीं चीफ़ मिनिस्टर की हैसियत से मंगल को जायज़ा हासिल किया , उन्हें तूफ़ानी क़ानूनसाज़ असेंबली सेशन का सामना होने वाला है । हलफ़ बर्दारी के बाद उन्होंने जो फ़ैसले किए हैं इन में साबिक़ा बी जे पी हुकूमत का रियासत में गो कुशी पर इम्तिना आइद करने के फ़ैसले को बर्ख़ास्त कर देने का इक़दाम ( काम) शामिल है।

बी जे पी ने 2008 में बरसर-ए-इक्तदार ( सत्ता/ शासन में) आने के बाद कर्नाटक में गो कुशी पर पाबंदी लागू करने का फ़ैसला किया था और कर्नाटक इंसिदाद गो कुशी और तहफ़्फ़ुज़ बिल मंज़ूर किया था । इसका मतलब हुआ कि रियासत भर में गो कुशी पर पाबंदी आइद हो गई । इस इक़दाम को क़ानूनसाज़ असेंबली में मंज़ूर किया गया । ताहम सिद्दारामिया ने वाज़िह कर दिया कि इस बिल से दस्तबरदारी इख्तेयार कर ली जाएगी । इसके नतीजा में अब ऐवान में मुबाहिस होंगे और 40 लेजिस्लेचर्स के साथ बी जे पी ने इस इक़दाम की मुख़ालिफ़त का फ़ैसला किया है ।

TOPPOPULARRECENT