कर्नाटक सरकार ‘किसान विरोधी’ है, कृषि ऋण को माफ नहीं किया: प्रधानमंत्री मोदी

कर्नाटक सरकार ‘किसान विरोधी’ है, कृषि ऋण को माफ नहीं किया: प्रधानमंत्री मोदी

कलबुर्गी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कर्नाटक की गठबंधन सरकार को किसान विरोधी करार दिया और कहा कि कांग्रेस व जनता दल (सेकुलर) ने विधानसभा चुनाव में कृषि कर्जमाफी को लेकर ‘झूठे’ वादे किए।

मोदी ने एक सार्वजनिक रैली में कहा, “वोटो के लिए पार्टियों ने राज्य में किसानों की कर्जमाफी का वादा किया और उन्होंने अपने वादों को भुला दिया।”

मोदी ने गठबंधन सरकार पर भ्रष्ट होने का आरोप लगाया। “कर्नाटक में किसान विरोधी सरकार ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम किसान) योजना का फायदा किसानों तक पहुंचने नहीं दिया।”

इस साल प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की घोषणा की गई, जिसके लिए केंद्रीय बजट में 6,000 रुपये प्रति साल वार्षिक मदद देने की योजना है। यह राशि तीन किस्तों में दी जाएगी, जिससे 12 करोड़ छोटे व सीमांत किसानों को फायदा होगा।

कर्नाटक के मुख्यमंत्री एच.डी. कुमारस्वामी को कांग्रेस द्वारा रिमोट से नियंत्रित किए जाने का आरोप लगाते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि राज्य इस योजना के योग्य किसानों की सूची केंद्र को भेजने में विफल रहा है।

कर्नाटक सरकार का कहना है कि उसने 48,000 करोड़ रुपये कृषि ऋण बीते साल जून में माफ करने की घोषणा की थी और 3.28 लाख किसानों द्वारा लिए गए 1,611 करोड़ रुपये के कर्ज 31 जनवरी तक माफ किए गए हैं।

Top Stories