Tuesday , December 12 2017

कर्फ्यू के बाद भी हिंसक प्रदर्शन जारी, रेल पटरियों को नुकसान यातायात प्रभावित

मंदसौर: मध्यप्रदेश के मंदसौर जिले में किसानों के आंदोलन में कुल छह लोगों की मौत के बाद लगाए गए कर्फ्यू के बावजूद भी आज जिले के कई हिस्सों में प्रदर्शनकारियों ने हिंसक प्रदर्शन किया। जिले के मलहारगढ़ में उग्र प्रदर्शनकारियों ने रेल पटरियों को नुकसान पहुंचाया, जिससे नीमच.मनदसूर से लेकर राजस्थान के चित्तोरगढ़ के बीच रेल यातायात प्रभावित होने की खबर है।

कल पपलियामंडी में किसानों के हिंसक विरोध और पुलिस के बीच संघर्ष के बाद कथित तौर पर पुलिस की गोलीबारी में छह किसानों की मौत हो गई थी। इसके बाद पपलियामंडी सहित मंदसौर जिला मुख्यालय और कई स्थानों पर कर्फ्यू लगा दिया गया था, इसके बावजूद आज सुबह लोगों को समझाने बरखेड़ापनत पहुंचे कलेक्टर स्वतंत्र कुमार सिंह के साथ प्रदर्शनकारियों ने मारपीट तक की।

इसका वीडियो भी सामने आया है जिसमें कुछ लोग उनके साथ मारपीट और बुरा सुलूक कर रहे हैं। सुबह इस घटना के बाद कई स्थानों से आगजनी की खबरें मिली हैं। जिले में एक एटीएम, एक कारखाने, एक टोल प्लाजा पर पथराव और आग लगाने की कोशिश की खबर मिल रही है, हालांकि इस बारे में किसी उच्च बात नहीं हो सकी है।

वहीं जिले के सयतामउ भी किसानों ने हिंसक प्रदर्शन किया। नजदीकी नीमच और देवास जिले से भी किसानों के कई स्थानों पर उग्र होने और थानों पर पथराव करने के प्रयासों की खबर सामने आ रही है। वहीं एक राष्ट्रीय समाचार चैनल मध्यप्रदेश पत्रकार ब्रजेश राजपूत भी मंदसौर में प्रदर्शनकारियों ने हमले की कोशिश की।

गांव वालों का आरोप था कि मीडिया उनके आंदोलन को हिंसक बनाकर पेश कर रही है।

TOPPOPULARRECENT