Wednesday , December 13 2017

कल्याण सिंह की दशहरा से क़बल बी जे पी में वापसी का इमकान ( संभावना)

लखनऊ, ०७ अक्टूबर (नाफ़े क़दवाई) जन क्रांति पार्टी के लीडर और उत्तर प्रदेश के साबिक़ ( पूर्व) चीफ़ मिनिस्टर कल्याण दशहरे से क़बल अपनी पुरानी पार्टी बी जे पी में दुबारा शामिल हो सकते हैं। इस सिलसिला में आख़िरी फ़ैसला जन क्रांति पार्टी के

लखनऊ, ०७ अक्टूबर (नाफ़े क़दवाई) जन क्रांति पार्टी के लीडर और उत्तर प्रदेश के साबिक़ ( पूर्व) चीफ़ मिनिस्टर कल्याण दशहरे से क़बल अपनी पुरानी पार्टी बी जे पी में दुबारा शामिल हो सकते हैं। इस सिलसिला में आख़िरी फ़ैसला जन क्रांति पार्टी के सदर ( अध्यक्ष) और कल्याण सिंह के बेटे राज वीर सिंह करेंगे जिसके लिए कल्याण सिंह ने उन्हें मजाज़ ( भ्रम) कर दिया है।

बाबरी मस्जिद के क़ातिल कल्याण सिंह के बी जे पी से अलग होने के बाद उन की सयासी हैसियत सिफ़र ( शून्य/ खाली) हो गई अगरचे कल्याण सिंह ने इंतिख़ाबात ( चुनाव) में बी जे पी को धूल चटाने का दावा किया था लेकिन उन की पार्टी एक भी नशिस्त ( सीट) पर कामयाब ना हो सकी यहां तक कि कल्याण सिंह के बेटे राज वीर सिंह भी इंतिख़ाबात ( चुनाव) में शिकस्त ( हार) से दो-चार हो गए।

उत्तर प्रदेश में बी जे पी का मौक़िफ़ (दृष्टीकोण/ निष्चय) बेहद कमज़ोर है। कल्याण सिंह के क़रीबी ज़राए के बमूजब बी जे पी में बाबू जी की वापसी दरअसल उन के घर वापसी के मुतरादिफ़ ( समान/ बराबर) है।

TOPPOPULARRECENT