कश्मीरियों के हक़ में बोली मलाला, “उनको भी जीने का पूरा हक और बराबर मौलिक अधिकार मिलने चाहिए”

कश्मीरियों के हक़ में बोली मलाला, “उनको भी जीने का पूरा हक और बराबर मौलिक अधिकार मिलने चाहिए”
Click for full image

नोबेल पुरस्कार विजेता और पाकिस्तानी एक्टिविस्ट मलाला यूसुफजई ने कश्मीर में हो रही हिंसा और बिगड़े हालातों पर मंगलवार को यूएन कश्मीर के लोगों के पक्ष में अपनी बात सामने रखते हुए कहा कि कश्मीर के हालात सुधारने के लिए भारत-पाकिस्तान को साथ मिलकर काम करना चाहिए और जल्द से जल्द इस समस्या का हल निकलना चाहिए क्योंकि कश्मीर के लोग भी बाकी जगहों के लोगों की तरह ही है। वहां के लोगो के भी मौलिक अधिकार और वे इसे जीने का पूरा हक रखते हैं। इस हिंसा से वहां पर आम लोगो को जीना बदहाल हो रखा है खासकर बच्चों पर इसका बहुत ही बुरा असर पड़ रहा है. लॉफ अपने घर छोड़ने पर मजबूर हो गए है जोकि इसका समस्या का सही हल नहीं बल्कि इससे लोगों में और दहशत फ़ैल रही है।

Top Stories