Sunday , December 17 2017

कश्मीर के तालीमयाफ्ता नौजवानों में अस्करीयत पसंदी का रुजहान

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर में सेक्योरिटी फोर्सेस केलिए ये तशवीशनाक सूरत-ए-हाल दरपेश है कि तालीमयाफ्ता नौजवानों की काबुल लिहाज़ तादाद अस्करीयत पसंदों की सफ़ों में शामिल होरही है। पुलिस ज़राए ने बताया कि जनवरी ता जून वादी कश्मीर के तक़रीबन 34 नौजवानों ने अस्करीयत पसंद तंज़ीमों में शमूलीयत इख़तियार करली है जिस में 28 नौजवानों का ताल्लुक़ा जुनूबी कश्मीर के अज़ला पुलवामा, शोपियाँ, कुलगाम और अनंतनाग से है।

बाक़ीमांदा नौजवानों को शुमाली कश्मीर के अज़ला बारहमुल्ला, कुपवाड़ा, बंडी पुर से भर्ती किया गया है। उन्होंने बताया कि अस्करीयत पसंद तंज़ीमों में जिन नौजवानों की भर्ती की जा रही है वो इंतेहाई बासलाहीयत और तालीमयाफ्ता हैं जबकि वसती कश्मीर के अज़ला श्रीनगर, बडगाम, गनडरबल और कुपवाड़ा में अस्करीयत पसंदी का रुजहान जड़ पकड़ रहा है और नौजवानों में ये जोश-ओ-जज़बा, 21 साला हिज़्ब उल-मुजाहिदीन के कमांडर बुरहान मुज़फ़्फ़र वाणी से मुतास्सिर होकर आरहा है।

बुरहान और उन के ग्रुप ने एसी तसावीर फेसबुक पर पोस्ट की हैं जिस में फ़ौजी लिबास और ए के 47 के साथ पेश किया गया। इन तसावीर की मक़बूलियत के बाद पुलिस ने उन्हें फेस बुक से हटा दिया है।

TOPPOPULARRECENT