कश्मीर को पाक में शामिल करना नवाज का ख्याली पुलाव: पाकिस्तानी अखबार

कश्मीर को पाक में शामिल करना नवाज का ख्याली पुलाव: पाकिस्तानी अखबार
Click for full image

इस्लामाबाद : आतंकी बुरहान वानी की कत्ल के बाद पाकिस्तान में काला दिवस मनाने और कश्मीर को पाकिस्तान में शामिल करने जैसी बातें करने वाले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को पाकिस्तान के ही एक अखबार ने आइना दिखाया है। अखबार ने लिखा है कि पाकिस्तान में कश्मीर को शामिल करने के बारे में प्रधानमंत्री नवाज शरीफ का बयान ख्याली पुलाव है। ऐसे बयानों से मुल्क और कश्मीरी लोगों के लिए और मुश्किलें खड़ी होंगी।

अखबार ने अपने संपादकीय में कहा कि वोट पाने के खातिर इस तरह की बयानबाजी एक परंपरा सी बनती जा रही है, लेकिन कश्मीर का पाकिस्तान में शामिल कैसे होगा यह कोई नहीं जानता, इस तरह की बातें आसानी से की जा सकती है। आपको बता दें शरीफ ने हाल ही एक बयान दिया था कि पाकिस्तान उस दिन की बाट जोह रहा है जब कश्मीर उसका हिस्सा बनेगा। प्रधानमंत्री के बयान को राग अलापने जैसा करार देते हुए इस अखबार ने कहा कि नेता बस लोगों का हिमायत पाने के लिए ऐसे बयान देते हें और लोग ऐसी ज़ेहनीयत के खातिर झेलते रहते हैं।

उसने कहा कि कश्मीर पर पाकिस्तान का आधिकारिक रुख यह है कि यह वह कश्मीरियों के आजादी के संघर्ष का पूरा नैतिक समर्थन करता है और हर मंच पर उनके आत्मनिर्णय के अधिकार के पक्ष में अपनी आवाज उठाता रहेगा। यह रुख सराहनीय है लेकिन बिना किसी नीति के कश्मीर के विलय के बारे में बयान देना अनुपयुक्त सा नजर आ रहा है।

अखबार ने लिखा है कि सात दशक पुराने इस विवाद का कोई अन्य हल नहीं है। अखबार ने सवाल किया कि जब पाकिस्तान खुद ही कई चुनौतियों से जूझ रहा है जो उसके अपने स्थायित्व के लिए खतरा पैदा कर रही हैं तो ऐसे में वह कश्मीरियों को क्या दे सकता है और जमीन पर कब्जा करने की चर्चा करने के बजाय पाकिस्तान सरकार को कश्मीर के अपने नियंत्रण वाले हिस्से को आदर्श राज्य बनाने की जरूरत है।

Top Stories