Wednesday , December 13 2017

कश्मीर पर नरेंद्र मोदी का सख़्त गैर मौक़िफ़

बात चीत की तंसीख़ के लिए अलाहदगी पसंद ज़िम्मेदार नहीं : यसीन मलिक‌ _

बात चीत की तंसीख़ के लिए अलाहदगी पसंद ज़िम्मेदार नहीं : यसीन मलिक‌
_

जम्मू-ओ-कश्मीर लिबरेशन फ्रंट के सरबराह यसीन मलिक‌ ने आज वज़ीरे आज़म नरेंद्र मोदी को मसला कश्मीर पर उन के सख़्त गैर मौक़िफ़ की वजह से तन्क़ीद का निशाना बनाया और हिन्दुस्तान-ओ-पाकिस्तान के माबेन मोतमिद‌ ख़ारिजा सतह की बात चीत की तंसीख़ के लिए अलाहदगी पसंद ज़िम्मेदार हैं।

यसीन मलिक‌ ने एक टी वी शो में हिस्सा लेते हुए कहा कि कश्मीरी क़ाइदीन की पाकिस्तानी हुक्काम से मुलाक़ातों की 24 साल से मिसालें मौजूद हैं । जब कभी उन के वुज़राए आज़म यह मोतमिद ख़ारिजा हिन्दुस्तान का दौरा करते हैं हम उन से मुलाक़ात करते हैं। ये कहना ग़लत है कि हम ने हिंद पाक बात चीत के अमल को मुतास्सिर करदिया है।

उन्होंने कहा कि इस के बरख़िलाफ़ हम क़ियाम अमन की कोशिशों को मुस्तहकम कर रहे हैं ताकि तमाम फ़रीक़ैन अपने ख़्यालात का इज़हार करें। हम कोई तीसरे फ़रीक़ नहीं हैं। जब कश्मीरियों के मुस्तक़बिल के ताल्लुक़ से बात चीत हो रही है तो उन्हें भी इस में शामिल करना चाहिए।

यसीन मलिक‌ ने कहा कि नरेंद्र मोदी कश्मीरी क़ाइदीन को कोई सियासी यह सिफ़ारती मौक़ा देना नहीं चाहते क्योंकी उन्हों ने मसला कश्मीर के ताल्लुक़ से सख़्त गैर मौक़िफ़ इख़तियार किया है। कश्मीर में हम तय्यार हैं और हम अपनी तहरीक को मुस्तहकम करेंगे । यसीन मलिक‌ ने हुर्रियत कान्फ्रेंस‌ के क़ाइदीन सय्यद अली शाह गीलानी शब्बीर शाह और मीर वाइज़ उम्र फ़ारूक़ के साथ पाकिस्तानी हाई कमिशनर से दिल्ली में जारीया हफ़्ते मुलाक़ात की थी हालाँकि हिन्दुस्तान ने इस पर एतराज़ ज़ाहिर किया था।

इस मुलाक़ात को बुनियाद बनाते हुए हिन्दुस्तान ने पाकिस्तान के साथ 25 अगस्ट की मुजव्वज़ा मोतमिद‌ ख़ारिजा मुलाक़ात को मंसूख़ करदिया है।

TOPPOPULARRECENT