Wednesday , June 20 2018

‘कश्मीर’ भारत का आंतरिक नहीं बल्कि अंतरराष्ट्रीय मामला है

ऑर्गनाइज़ेशन ऑफ़ इस्लामिक कोऑपरेशन (ओआईसी) के सेक्रेटरी जनरल अयाद अमीन मदनी का कहना है कि कश्मीर भारत का आंतरिक मामला नहीं है। ओआईसी इस्लामिक देशों का सबसे बड़ा संगठन है और इसके 56 सदस्य हैं। अयाद अमीन फ़िलहाल पाकिस्तान के दौरे पर हैं।

पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नफ़ीस ज़करिया ने अपने ट्वीटर संदेश में बताया कि ओआईसी के सेक्रेटरी जनरल ने कहा है कि ‘कश्मीर इंडिया का अंदरुनी मामला नहीं है बल्कि मानवाधिकारों के घोर उल्लंघन का अंतरराष्ट्रीय मसला है।’

इस्लामाबाद में प्रेस कांफ्रेस के दौरान अयाद अमीन ने कश्मीर के मामले में वहां के शहरियों के ख़ुद फ़ैसले लेने का पूरी हिमायत करने का भी एलान किया और संयुक्त राष्ट्र के प्रस्तावों के मुताबिक़ इसके हल पर ज़ोर दिया।

मदनी के साथ प्रेस कांफ्रेस में विदेश मामलों पर पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के सलाहकार सरताज अज़ीज़ भी मौजूद थे। सरताज अज़ीज़ ने बाद में एक बयान भी जारी किया। अज़ीज़ के मुताबिक़ ओआईसी के प्रमुख से बातचीत में क्षेत्र के हालात और ख़ासतौर पर भारत प्रशासित कश्मीर में मौजूदा हालात पर चर्चा हुई।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

उनके अनुसार सितंबर में ओआईसी में मौजूद कश्मीर ग्रुप, न्यूयार्क में संयुक्त राष्ट्र की बैठक के दौरान इस मामले पर विचार करेगा। भारत प्रशासित कश्मीर में पिछले 40 दिनों से कर्फ़्यू लागू है और हाल में हुई हिंसा में वहां कम से कम 60 लोगों की जानें गई हैं और सैकड़ों घायल हुए हैं।

पाकिस्तान ने अगस्त माह में ही भारत को जम्मू-कश्मीर मामले पर बात करने की दावत दी थी लेकिन भारत का कहना है कि वो आतंकवाद के मसले पर बात करने को तैयार है। भारत का कहना है कि सूबे में पैदा हुई स्थिति का तालुक्क़ सीमा पार से होनेवाली आंतकवादी गतिविधियों से है इसलिए पहले उस पर बात होनी चाहिए।

TOPPOPULARRECENT