कश्मीर में 600 साल पुरानी ख़ानक़ाह में आग, लोगो में सदमे की लहर

कश्मीर में 600 साल पुरानी ख़ानक़ाह में आग, लोगो में सदमे की लहर
Click for full image

श्रीनगर: जम्मू कशमीर की राजधानी श्रीनगर के पाईन शहर में आग लगने की एक वारदात में बलंद पाया वली कामिल हज़रत अमीर कबीर मीर सय्यद अली हमदानी (रह से मंसूब क़रीब 600 साल पुरानी ज़ियारत गाह ‘तारीख़ी ख़ानक़ाह मुअल्ला को बड़े पैमाने पर नुक़्सान पहुंचा है । ख़ानक़ाह को हुए नुक़्सान से कश्मीर के लोगो में सदमे की लहर फैली हुई है।

मंगल और बुध की बीच को भड़क उठने वाली इस भयानक आग के कारण ख़ानक़ाह के गनबद और ऊपरी मंज़िल को नुक़्सान पहुंचा है । हालांकि ख़ानक़ाह में मौजूद सभी तबर्रूकात महफ़ूज़ हैं। आग लगने की वजह शॉर्ट सर्किट बताई जा रही है।

हालांकि मुक़ामी लोगों की मानें तो ख़ानक़ाह में आग आसमानी बिजली से लगी है। पाईन शहर में झेलम नदी के किनारे और फ़तह कदल-ओ-ज़ीना कदल (पलों के बीच स्थित‌ उस सदीयों पुरानी ख़ानक़ाह के एक व्यवस्थापक ने यू एन आई को बताया कि ‘ख़ानक़ाह में मौजूद सभी तबर्रूकात सुरक्षित हैं। आग की इस वारदात में गनबद और ऊपरी मंज़िल को नुक़्सान पहुंचा है।

Top Stories