Monday , December 11 2017

कश्मीर यूनीवर्सिटी क्राफ्ट्स सेक्टर में मास्टर्स कोर्स का आग़ाज़

श्रीनगर, १७ अक्टूबर ( पी टी आई) रियासत जम्मू-ओ-कश्मीर ने अपनी नौईयत की पहली पेशरफ़त करते हुए रियासत में क्रा़फ्ट सेक्टर के लिए इंसानी वसाइल के फ़रोग़ ( उन्नति) के लिए यूनीवर्सिटी की जानिब से मुस्लिमा प्रोफेशनल कोर्स मास्टर्स प्रोग्रा

श्रीनगर, १७ अक्टूबर ( पी टी आई) रियासत जम्मू-ओ-कश्मीर ने अपनी नौईयत की पहली पेशरफ़त करते हुए रियासत में क्रा़फ्ट सेक्टर के लिए इंसानी वसाइल के फ़रोग़ ( उन्नति) के लिए यूनीवर्सिटी की जानिब से मुस्लिमा प्रोफेशनल कोर्स मास्टर्स प्रोग्राम की लॉंचिंग की है ।

कमिशनर सेक्टरी ( इंडस्ट्रीज़-ओ-कॉमर्स) शानतमनो के हाथों मास्टर्स इन क्रा़फ्ट मैनेजमेंट ऐंड इंटरप्रेनर शिप (MCME) लॉंचिंग अमल में आई जिसे कश्मीर इंटरनैशनल कान्फ्रेंस सेंटर में एक तक़रीब ( सामारोह) के दौरान अंजाम दिया गया ।

मज़कूरा ( उक़्त) प्रोग्राम की रूह रवां क्रा़फ्ट डेवलपमेंट इंस्टीटियूट है जिसे यूनीवर्सिटी आफ़ कश्मीर ने मुस्लिमा हैसियत दी है । इस मौक़ा पर शानतमनो ने तवक़्क़ो ( उम्मीद) ज़ाहिर की कि MCME प्रोग्राम इंतिहाई फ़ायदेमंद और समर आवर साबित होगा जिस के ज़रीया ग्रैजूएट्स को करीयर फ़रोग़ देने के मवाक़े हाथ आयेंगे क्योंकि इंस्टीटियूट में तर्बीयत याफ़ता क्रा़फ्ट इंटरप्रेनर्स मैनेजर्स और ट्रेनर्स को तैयार किया जाएगा जिन्हें ना सिर्फ ख़ानगी शोबों बल्कि सरकारी महिकमों ( विभागो) में भी शानदार मुलाज़मतों ( Posts) की पेशकश की जाएगी ।

उन्होंने पहले बैच के तलबा की हिम्मत अफ़्ज़ाई करते हुए मश्वरा दिया कि अपनी डिग्री की तकमील (पूरी होने ) के बाद वो इंटरप्रेनर बन जाएं । डायरेक्टर्स डी आई जनाब एम एस फ़ारूक़ी ने कहा कि MCME दरअसल तर्बीयत याफ़ता इंसानी फ़रोग़ की पेशा वाराना कोशिश है जिस की हिम्मत अफ़्ज़ाई की जानी चाहीए ।

MCME भी MBA से मुमासिल (के बराबर) एक डिग्री है जिस की तकमील ( पूर्ती) के लिए यूनीवर्सिटी आफ़ कश्मीर तमाम तर सहूलयात ( हर सहूलियत) फ़राहम करने तैयार है । फैकल्टी आफ़ कॉमर्स ऐंड मैनेजमेंट के डीन प्रोफेसर शब्बीर अहमद भट्ट ने भी इस की तौसीक़ ( पुष्टी) की ।

TOPPOPULARRECENT