कश्मीर समस्या का हल भारत अकेले नहीं कर सकेगा- मीरवाइज उमर फारूक

कश्मीर समस्या का हल भारत अकेले नहीं कर सकेगा- मीरवाइज उमर फारूक
Click for full image

श्रीनगर। अलगाववादी नेता और ऑल पार्टी हुर्रियत कांफ्रेंस के अध्यक्ष मीरवाइज उमर फारुक ने पाकिस्तान के सुर में सुर मिलाते हुए कहा हैै कि भारत अकेले कश्मीर का समाधान नहीं कर सकेगा। इसमें कश्मीर के लोगों को शामिल करना होगा। उन्होंने कहा है कि भारत इसका समाधान कर पाने में सक्षम नहीं है। इसके लिए उन्होंने कई लोगों को पत्र लिखकर कश्मीर समस्या को हल करने के लिए उनसे मदद मांगी है।

मीरवाइज ने इसके लिए वैटिकन के पोप फ्रांसिस से लेकर तिब्बती धर्मगुरु दलाई लामा, काबा के इमाम, शंकराचार्य, कई देशों के राजदूतों, संयुक्त राष्ट्र और यूरोपीय संघ को खत लिखा है। इस खत में लिखा गया है कि उनकी पार्टी हुर्रियत ऐसा मानती है कि सभी लोकतांत्रिक मूल्यों को दरकिनार कर भारत की लोकतांत्रिक’ सरकार हमारे खिलाफ जंग लड़ रही है। हुर्रियत नेता ने इस खत में लिखा है कि कश्मीर का मसला यहां के लोगों और उनके खुद फैसले लेने के अधिकार का मामला है। भारत और पाकिस्तान अकेले इस मसले को हल नहीं कर सकेंगे। इसलिए अंतरराष्ट्रीय समुदाय को इसे गंभीरता से लेना चाहिए।

अपने इस पत्र में मीरवाइज ने केंद्र और राज्य सरकार पर कश्मीर में लोगों पर दमनकारी नीति चलाने का भी आरोप लगाया है। उनका कहना है कि भारतीय सुरक्षा तंत्र ने कश्मीर में बर्बर दमन की नीति अपना रखी है और हमारे विरोध को अभूतपूर्व तरीके से कुचला जा रहा है। इस खत में हुर्रियत प्रमुख ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से कश्मीर के हालात पर मदद मांगी है और कहा कि इतनी बड़ी मानवीय त्रासदी पर वो मूक दर्शक क्यों बना हुआ है?

Top Stories