कश्मीर हमले पर हिना के बयान की तरदीद

कश्मीर हमले पर हिना के  बयान की तरदीद
इस्लामाबाद, 14 मार्च: पाकिस्तान की वज़ीर ए खारेजा हिना रब्बानी खार ने कश्मीर मसले को सुलझाने के लिए रिवायती तरीकों से हटकर हल करने की जरूरत बताई है। उन्होंने कहा कि दोनों मुल्को के बीच चले आ रहे तनाज़े को हल करने में दहशतगर्द मदद नहीं

इस्लामाबाद, 14 मार्च: पाकिस्तान की वज़ीर ए खारेजा हिना रब्बानी खार ने कश्मीर मसले को सुलझाने के लिए रिवायती तरीकों से हटकर हल करने की जरूरत बताई है। उन्होंने कहा कि दोनों मुल्को के बीच चले आ रहे तनाज़े को हल करने में दहशतगर्द मदद नहीं कर सकता।

खार के इस बयान का वज़ारत ए खारेजा ने फौरन तरदीद कर दी। पाकिस्तान हुकूमत के पांच साल पूरे होने के साथ ही 16 मार्च को खार की मुद्द्त भी खत्म हो रही है। उन्होंने सीनीयर आफीसरो के साथ बैठक में कहा कि फौजी ताकत भी कश्मीर मसले का हल नहीं है।

हिंदुस्तान फिलहाल कश्मीर पर कोई बात नहीं करेगा। ऐसे में हिंदुस्तान के साथ तिजारत ही सबसे बेहतर तरीका है। जैसे-जैसे दोनों मुल्कों के बीच बिजनेस बढ़ेगा, हिंद के लोग अपनी सरकार पर कश्मीर मुद्दे का हल निकालने के लिए दबाव बनाएंगे।

इस तरह से हम कश्मीर के लोगों को कुछ राहत दिला सकते हैं। उन्होंने कशीदा माहौल के बीच वज़ीर ए आज़म राजा परवेज अशरफ का निजी दौरे को दोनों मुल्को के रिश्तों के लिए अहम बताया।

मीडिया में आए खार के बयान पर वज़ारत ए खारेजा के तरजुमान मोअज्जम खान ने कहा कि वज़ीर ए खारेजा के बयान को गलत तरीके से पेश किया गया है। इस बीच, पाकिस्तान के वज़ीर ए दाखिला रहमान मलिक ने कहा कि हिंदुस्तान में भी शिद्द्तपसंदी बढ़ रर्ही है।

उन्होंने कहा कि तरक्की याफ्ता मुल्को में भी Radical ideology के लोग तशद्दुद को बढ़ावा दे रहे हैं। दूसरी तरफ मलिक ने कहा कि पाकिस्तान में अमन व अमान को यकीन बना लिया गया है। मलिक ने कहा, ‘अब हम जहां कहीं भी जाते हैं, वहां अमन रहता है।

Top Stories