कश्मीर हिंसा: स्थानीय अखबार और केबल सर्विस बंद

कश्मीर हिंसा: स्थानीय अखबार और केबल सर्विस बंद
Click for full image

मोबाइल और इंटरनेट सेवा के बाद अब प्रशासन ने कश्मीर में स्थानीय अखबारों का प्रकाशन और केबल नेटवर्क भी बंद करवा दिया है। आधी रात को एक दर्जन से अधिक अखबारों के कार्यालयों व प्रेस परिसर में दबिश देकर समाचार पत्रों का प्रकाशन रुकवाकर छप चुकी प्रतियों को जब्त कर लिया गया। प्रेस में कई लोगों से पूछताछ की गई और पांच लोगों को हिरासत में भी ले लिया गया। प्रशासन ने यह कदम कश्मीर में पिछले एक सप्ताह से जारी ङ्क्षहसक प्रदर्शनों के दौर से पैदा हुए विधि व्यवस्था के संकट पर काबू पाने के लिए उठाया है।

संबंधित अधिकारियों के मुताबिक, अखबारों में कई ऐसे बातें प्रकाशित हो रही हैं, जिससे हालात बिगड़ रहे हैं और इनमें से कई बातों का तथ्यों से नाता भी नहीं है। शुक्रवार आधी रात के बाद शुरू हुए इस अभियान के तहत पुलिस के एक दल ने श्रीनगर शहर के साथ सटे रंगरेथ औद्योगिक क्षेत्र में दो समाचारपत्रों की प्रिंटिंग प्रेस में छापा मारा। पुलिस ने पहले ग्रेटर कश्मीर और फिर उजमा समाचार पत्र की प्रिंटिंग प्रेस में जारी छपाई को बंद करावा दिया। उन्होंने इन दोनों अखबारों की लगभग 50 हजार से ज्यादा प्रकाशित प्रतियों को भी जब्त कर लिया। इस दौरान वहां मौजूद अखबार कर्मियों ने जब एतराज जताया तो पुलिसकर्मियों ने उनके साथ मारपीट का भी प्रयास किया। ग्रेटर कश्मीर की प्रिंटिंग प्रेस में चार अन्य स्थानीय अखबार भी प्रकाशित होते हैं।

Top Stories