Wednesday , June 20 2018

क़ज़्ज़ाक़ों के हाथों पाकिस्तानीयों के अग़वा के चार वाक़ियात

ईस्लामाबाद । 19 जनवरी ( एजैंसीज़ ) वज़ीर-ए-ख़ारजा हिना रब्बानी खुर ने सनेट को बताया है कि 3 साल में क़ज़्ज़ाक़ों के हाथों पाकिस्तानीयों के अग़वा के चार वाक़ियात हुए हैं, हुकूमत ऐसे मुआमलात में बराह-ए-रास्त मुलव्वस नहीं होती क्यों क

ईस्लामाबाद । 19 जनवरी ( एजैंसीज़ ) वज़ीर-ए-ख़ारजा हिना रब्बानी खुर ने सनेट को बताया है कि 3 साल में क़ज़्ज़ाक़ों के हाथों पाकिस्तानीयों के अग़वा के चार वाक़ियात हुए हैं, हुकूमत ऐसे मुआमलात में बराह-ए-रास्त मुलव्वस नहीं होती क्यों कि क़ज़्ज़ाक़ तावान की रक़म बढ़ा देते हैं। सनेट का इजलास चेयरमैन फ़ारूक़ ऐच नायक की ज़ेर-ए-सदारत हुआ जिस में हिंदूस्तानी अदाकार शत्रुधन  सिन्हा समेत हिंदूस्तानी अराकीन पार्लीमैंट के वफ़द ने भी शिरकत की।

हिंदूस्तानी वफ़द ऐवान में आया तो स्नेटर ज़ ने डैसक थपथपाकर उन काइस्तिक़बाल किया। स्नेटर्ज़ ने कहा कि दोनों ममालिक को बाहमी मसाइल पुरअमन तरीक़े से हल करने चाहिऐं । ताहम प्रोफ़ैसर ख़ुरशीद का कहना था कि कश्मीर और पानी समेत अहम तनाज़आत , दो तरफ़ा ताल्लुक़ात की बेहतरी में रुकावट हैं । वकफ़ा-ए-सवालात के दौरान वज़ीर-ए-ख़ारजा ने बताया कि बैरून-ए-मुल्क पाकिस्तानी सिफ़ारतख़ानों और मशनस ने पाँच साल में वीज़ों के इजरा और दीगर ख़िदमात पर 13 अरब 36 करोड़ रुपय जमा किए।

TOPPOPULARRECENT