Wednesday , June 20 2018

क़तर में तालिबान का दफ़्तर बतौरे एहतेजाज बंद

इस्लामाबाद 10 जुलाई (ए पी ) एक सिफ़ारतकार और तालिबान के ओहदेदार ने कहा कि अफ़्ग़ान तालिबान अपना क़तर का दफ़्तर कम अज़ कम आरिज़ी तौर पर बंद कर रहे हैं ताकि इस्लामी इमारात अफ़्ग़ानिस्तान की अलामत उन के पर्चम से हटा दी जाए , उन मुतालिबा

इस्लामाबाद 10 जुलाई (ए पी ) एक सिफ़ारतकार और तालिबान के ओहदेदार ने कहा कि अफ़्ग़ान तालिबान अपना क़तर का दफ़्तर कम अज़ कम आरिज़ी तौर पर बंद कर रहे हैं ताकि इस्लामी इमारात अफ़्ग़ानिस्तान की अलामत उन के पर्चम से हटा दी जाए , उन मुतालिबात के ख़िलाफ़ बतौरे एहतेजाज कम अज़ कम आरिज़ी तौर पर दफ़्तर बंद किया जा रहा है ।

ये दफ़्तर एक माह से भी कम मुद्दत पहले खोला गया था ताकि अमन मुज़ाकरात में सहूलत फ़राहम की जाए । इस दफ़्तर पर दबाव डाला जा रहा था कि तालिबान के अफ़्ग़ानिस्तान में 5 साला दो इक़्तेदार के दौरान जो सफ़ेद पर्चम लहराया जा रहा था वही इस दफ़्तर पर भी इस्तिमाल किया जाए।

उन का ख़्याल था कि इस दफ़्तर के क़ियाम और तालिबान के साथ बात-चीत उन को तस्लीम करने के मुतरादिफ़ होगी हालाँकि हुकूमत अफ़्ग़ानिस्तान का मक़सद ये है कि तालिबान शोर्श पसंद हैं.

लेकिन अमरीका के दबाव के तहत हामिद करज़ई ने क़तर में तालिबान का दफ़्तर क़ायम करने और उन से मुज़ाकरात करने पर आमादगी ज़ाहिर की लेकिन उन के पर्चम पर एतराज़ किया जिस में इमारात इस्लामीया अफ़्ग़ानिस्तान की अलामत शाए की गई है।

TOPPOPULARRECENT