क़ब्ल अज़ वक़्त(समय से पहले) लोक सभा इंतेख़ाबात(चुनाव) का फ़ैसला? ममता का दावा

क़ब्ल अज़ वक़्त(समय से पहले) लोक सभा इंतेख़ाबात(चुनाव) का फ़ैसला? ममता का दावा
कोलकता । तृणमूल कांग्रेस की सरबराह(लीडर) ममता बनर्जी ने आज दावा किया कि उन्हें ये इत्तिला मिली है कि दिल्ली में एक सयासी जमात ने इज्लास तलब करते हुए(मिटींग बुला कर) मुक़र्ररा वक़्त से क़ब्ल(तय किये हुए समय से पहले) लोक सभा इंतेख़ाबात

कोलकता । तृणमूल कांग्रेस की सरबराह(लीडर) ममता बनर्जी ने आज दावा किया कि उन्हें ये इत्तिला मिली है कि दिल्ली में एक सयासी जमात ने इज्लास तलब करते हुए(मिटींग बुला कर) मुक़र्ररा वक़्त से क़ब्ल(तय किये हुए समय से पहले) लोक सभा इंतेख़ाबात मुनाक़िद करने का फ़ैसला किया है।

उन्हों ने अपनी पार्टी के क़ाइदीन और कारकुनों से कहा है कि वो इंतेख़ाबात का सामना करने(चुनाव) के लिए तैयार हो जाएं। ममता बनर्जी ने तृणमूल कांग्रेस के इज्लास(सभा) से ख़िताब(संबोधन) करते हुए कहा कि दिल्ली में एक जमात ने 2013 में लोक सभा इंतेख़ाबात(चुनाव) मुनाक़िद करने का फ़ैसला किया है। हम किसी भी दिन उन का सामना करने के लिए तैयार हैं और हमें तैयार रहना चाहीए।

मिस बनर्जी ने ताहम(फीर भी) इस पार्टी का नाम नहीं बताया और कहा कि मुझे मालूम नहीं कि इस पार्टी के इज्लास(सभा) में कौन कौन थे, लेकिन इस में मुक़र्ररा वक़्त से क़ब्ल(तय किये हुए समय से पहले) यानी 2013 में लोक सभा इंतेख़ाबात मुनाक़िद करने का फ़ैसला किया गया है।

उन्हों ने दानिस्ता तौर पर(जान बूझ कर) क़ब्ल अज़ वक़्त(समय से पहले) इंतेख़ाबात मुनाक़िद(चुनाव) करने का फ़ैसला किया है। मिस बनर्जी ने अपने बाज़ू बैठे हुए क़रीबी साथी और वज़ीर रेलवे की तरफ़ इशारा करते हुए कहा कि क्या मुकुल? क्या इज्लास मुनाक़िद नहीं हुआ था?।

Top Stories