Friday , December 15 2017

क़ादियानियों पर पाबंदी आइद करने का मुतालिबा

कामारेड्डी, 17 फरवरी: कामारेड्डी इलाक़े में कादयानी फ़ित्ने की बढ़ती हुई सरगर्मीयां और इबादतगाह क़ायम करने की नाकाम कोशिश के ख़िलाफ़ सैंकड़ों ब्रहम नौजवानों ने बाद नमाज़े जुमा इंचार्ज डी एस पी के नरसिम्हा डी एस पी आरमोर को रूरल सर्कल ऑफ

कामारेड्डी, 17 फरवरी: कामारेड्डी इलाक़े में कादयानी फ़ित्ने की बढ़ती हुई सरगर्मीयां और इबादतगाह क़ायम करने की नाकाम कोशिश के ख़िलाफ़ सैंकड़ों ब्रहम नौजवानों ने बाद नमाज़े जुमा इंचार्ज डी एस पी के नरसिम्हा डी एस पी आरमोर को रूरल सर्कल ऑफ़िस में नुमाइंदगी की, और आर डी ओ कामारेड्डी को एक याद्दाश्त पेश करते हुए क़ादियानियों पर पाबंदी आइद करना मुतालिबा किया।

मजलिसे तहफ़्फ़ुज़ ख़त्म नबुव्वत के ज़िम्मेदारान के इलावा सदर क़ाज़ी कामारेड्डी मुल्क मुहम्मद ताहिर, कांग्रेस क़ाइद मुहम्मद मज़हरुद्दीन अफ़्सर, कल जमाती क़ाइदीन मुहम्मद ज़ाकिर हुसैन, मुहम्मद माजिदुल्लाह, सय्यद मसऊद अली, मुहम्मद तय्यब,मुहम्मद सलीम, मुहम्मद अकरम, मुहम्मद समीर, सदर जामा मस्जिद मीर फ़ारूक़ अली, सदर मस्जिद गढ़ी शेख़ वहीद, मीर रहमत अली बाबा के इलावा दीगर ने डी एस पी और आर डी ओ को याद्दाश्त पेश करते हुए बताया कि क़ादियानियों का मुसलमानों से कोई ताल्लुक़ नहीं है, जबकि तमाम मकतब फ़िक्र से ताल्लुक़ रखने वाले मुत्तफ़िक़ा तौर पर उन्हें काफ़िर क़रार दिया लेकिन, ये देहातों में भोले भाले मुसलमानों को पैसे का लालच देते हुए उनका मज़हब बदल‌ रहे हैं और उनके ईमान पर डाका डाल रहे हैं।

कामारेड्डी में चंद माह पहले डी एस पी के इजलास में फ़ैसला किया गया था, कि ये अपनी सरगर्मीयों को बंद करदेंगे लेकिन, खूफिया तौर पर सिरी राम सागर कॉलोनी में इबादतगाह शुरू करने की कोशिश की और उनके लिटरेचर और डिश-ओ-दीगर अशिया को बरामद किया गया। ये क़ुरआन और कलिमा और नबी के नाम का ग़लत इस्तिमाल कररहे हैं, कलिमे के नीचे का दयानी मिर्ज़ा ग़ुलाम अहमद मलऊन की तस्वीर लगाते हुए कलिमे की बेहुर्मती कररहे हैं, और मुसलमानों के जज़बात को ठेस पहुंचा रहे हैं अगर मुसलमानों के जज़बात को ठेस पहुंचाया गया तो मुसलमान ख़ामोश तमाशाई नहीं रहेंगे और जज़बात बेक़ाबू होने के बाद इस तरह के वाक़ियात रौनुमा होंगे लिहाज़ा पहले अज़तए शूदा मुआहिदा के तहत अमल करने और यहां से क़ादियानियों को बरख़ास्त करने का दयानी सरग़ने हिमायतुल्लाह और दीगर पर कार्रवाई करने का मुतालिबा किया जिस पर डी एस पी ने इस मसले को समझने के बाद एस पी निज़ामाबाद को वाक़िफ़ करवाने और डी एस पी कामारेड्डी मनोहर पर रुख़स्त पर है उन की वापसी के बाद इस मसले को हल करने का यक़ीन‌ दिलाया।

नौजवानों ने हिमायतुल्लाह पर केस दर्ज करने के लिए भी याद्दाश्त पेश की और आर डी ओ को हुकूमत सतह पर नुमाइंदगी करने और वक़्फ़ बोर्ड की जानिब से उन्हें ख़ारिज करने के बारे में भी वाक़िफ़ करवाया।

TOPPOPULARRECENT