Saturday , December 16 2017

क़िला गोलकेंडा में पर्चमकुशाई पर फ़ौज का एतेराज

हैदराबाद दक्कन के सदीयों क़दीम तारीख़ी क़िला गोलकेंडा पर 15 अगसट को क़ौमी पर्चम लहराने तेलंगाना के चीफ़ मिनिस्टर के चन्द्रशेखर राव‌ के मंसूबे के बारे में अचानक उस वक़्त ग़ैर यक़ीनी पैदा होगई जब गोलकेंडा फ़ौजी यूनिट से ताल्लुक़ रखने वाले

हैदराबाद दक्कन के सदीयों क़दीम तारीख़ी क़िला गोलकेंडा पर 15 अगसट को क़ौमी पर्चम लहराने तेलंगाना के चीफ़ मिनिस्टर के चन्द्रशेखर राव‌ के मंसूबे के बारे में अचानक उस वक़्त ग़ैर यक़ीनी पैदा होगई जब गोलकेंडा फ़ौजी यूनिट से ताल्लुक़ रखने वाले आला फ़ौजी ओहदेदार क़िला में इस मुक़ाम पर पहूंच गए जहां रियासती हुकूमत के मुख़्तलिफ़ मह्कमाजात की तरफ से यौम आज़ादी तक़ारीब के मौके पर पुलिस परेड और क़ौमी पर्चमकुशाई के लिए इंतेज़ामात किए जा रहे थे।

बावसूक़ ज़राए के मुताबिक़ फ़ौजी ओहदेदारों ने कहा कि ये इलाक़ा वज़ारत-ए-दिफ़ा के तहत है और फ़ौज के ज़ेर-ए-कंट्रोल है। फ़ौजी ओहदेदारों ने इन इंतेज़ामात को रोक दिया।

तेलंगाना के रियासती हुक्काम ने फ़ौजी ज़िम्मेदारों को तैयारीयों के बारे में समझाने की कोशिश भी की। ज़राए के मुताबिक़ फ़ौजी ज़िम्मेदारों ने रियासती ओहदेदारों से कहा कि इस ज़िमन में फ़ौज से इजाज़त का हुसूल लाज़िमी है और किसी दरख़ास्त पर संजीदगी से ग़ौर-ओ-ख़ौज़ के बाद ही इजाज़त के बारे में क़तई फ़ैसला किया जा सकता है।

TOPPOPULARRECENT