Monday , December 11 2017

क़ुरआन मजीद की कसरत से तिलावत करना सआदत दारेन

हैदराबाद ०७ अप्रैल : ( रास्त ) : क़ुरआन मजीद की एक आयत का हिफ़्ज़ करना हर मुस्लमान मुकल्लिफ़ पर फ़र्ज़ है और पूरे क़ुरआन मजीद का हिफ़्ज़ करना फ़र्ज़ किफ़ाया है और सूरत फ़ातिहा और एक दूसरी छोटी सूरत या इस के मिसल तीन छोटी आयतें या एक बड

हैदराबाद ०७ अप्रैल : ( रास्त ) : क़ुरआन मजीद की एक आयत का हिफ़्ज़ करना हर मुस्लमान मुकल्लिफ़ पर फ़र्ज़ है और पूरे क़ुरआन मजीद का हिफ़्ज़ करना फ़र्ज़ किफ़ाया है और सूरत फ़ातिहा और एक दूसरी छोटी सूरत या इस के मिसल तीन छोटी आयतें या एक बड़ी आयत का हिफ़्ज़ वाजिब ऐन है ।

इन ख़्यालात का इज़हार साबिर एज्यूकेशनल सोसाइटी मुग़ल पूरा मैं मुनाक़िदा जलसा ख़तन क़ुरआन मजीद से हाफ़िज़ मुहम्मद साबिर पाशाह कादरी ने किया जिस की निगरानी जनाब सय्यद फ़हीम आरिफ़ कादरी सदर नशीन सोसाइटी हज़ा ने की ।।

TOPPOPULARRECENT