Wednesday , December 13 2017

काँग्रेस को गरीब और मुल्क की नहीं, सिर्फ़ कुर्सी की फिक्र

रायगढ़, 16 नवंबर: बीजेपी के वज़ीर ए आज़म के ओहदे के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने कहा है कि कांग्रेस को न तो मुल्क की फिक्र है और न ही गांव -गरीब की, उसे तो बस कुर्सी की फिक्र सता रही है | कांग्रेस उलझन में न रहे, अब मुल्क की आवाम उसे पहचान गई है |

रायगढ़, 16 नवंबर: बीजेपी के वज़ीर ए आज़म के ओहदे के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने कहा है कि कांग्रेस को न तो मुल्क की फिक्र है और न ही गांव -गरीब की, उसे तो बस कुर्सी की फिक्र सता रही है | कांग्रेस उलझन में न रहे, अब मुल्क की आवाम उसे पहचान गई है | अब उसे सबक सिखाने का वक्त आ गया है | शहजादे घूम-घूम कर पुराने निज़ाम बदलने की बात करते हैं, लेकिन क्या उन्हें मालूम नहीं कि ये निज़ाम उनके ही अपनों के तरफ से बिगाड़ी गई है |

मोदी ने कहा है कि उन्होंने चाय बेचने का काम किया है न कि मुल्क बेचने का काम किया | गरीब होना गुनाह नहीं है | कमल पर जितना ज्यादा कीचड़ उछालोगे-कमल उतना ही ज्यादा खिलेगा. कमल का काम है कीचड़ में खिलना |

मोदी जुमे के दिन छटाटीसगढ़ में इंतेखाबी तशहीर के सिलसिले में मुनाकिद इजलास में मुखालिफीन के हमलों पर बोल रहे थे | हाल ही में समाजवादी पार्टी के जनरल सेक्रेटरी नरेश अग्रवाल ने मोदी को चाय बेचने वाला ठहराकर उनकी सोच पर सवाल उठाया था | मोदी ने कोरबा और बिलासपुर में भी जलसे कीं |

इस सिलसिले में नरेंद्र मोदी ने आवाम से सवाल किया कि, क्या मुल्क बेचने वालों को हुकूमत चलानी चाहिए ? जाहिर है उनके निशाने पर कांग्रेस और मुखालिफ पार्टी थे | कहा, छत्ताीसगढ़ में रमन व कमल की आंधी चल रही है | इसमें कांग्रेस का बचना मुश्किल है | दिल्ली में बैठे कांग्रेस के लीडर टीवी के सामने बैठकर मोदी की निगरानी कर रहे हैं | देख रहे हैं- मोदी कहां गया, क्या कर रहा, क्या कह रहा है, इसी में अपना दिन निकाल रहे हैं. फिर कहेंगे की एक‍एक अल्फाज़ की बखिया उधेड़ रहे हैं |

उन्हें नहीं मालूम कि जनता के दिलों में जो कमल खिला है-अब उसे कोई मुरझा नहीं सकता |

मोदी ने कहा कि मध्य प्रदेश के जमाने में छत्तीसगढ़ को कहत से मुतास्सिर माना जाता था | उस जमाने में कांग्रेस का ही राज हुआ करता था और आज जो पूरे मुल्क में घूम रहे हैं उनका राज हुआ करता था | अब छत्ताीसगढ़ तरक्की के रास्ते पर आगे बढ़ रहा है | रियासत की हुकूमत अपना ही नहीं बल्कि अगल-बगल के तीन रियासतों का भी पेट भर रही है |

जरआत के सूबे में रियासत ने अच्छा काम किया है‍ मरकज़ी हुकूमत ने उसे अवार्ड भी दिया है | इस तरक्की को हमेशा जारी रखने के लिए रमन सिंह को वज़ीर ए आला बनाना होगा |

TOPPOPULARRECENT