कांगो, अल्बानिया और आयवरी कोस्ट में भी सुरंगों को नाकारा बनाने की कोशिश

कांगो, अल्बानिया और आयवरी कोस्ट में भी सुरंगों को नाकारा बनाने की कोशिश

मिस्टर बाण ने इन 159 रियास्तों की तारीफ़ की जो बारूदी सुरंगों पर पाबंदी लगाने के कनवेनशन पर मुत्तफ़िक़ होगए हैं। जिस के तहत उन के इस्तिमाल उन के ज़ख़ीरा की तैय्यारी और मुंतक़ली को ममनू क़रार देता है। ये ममालिक मौजूदा सुरंगों को तब

मिस्टर बाण ने इन 159 रियास्तों की तारीफ़ की जो बारूदी सुरंगों पर पाबंदी लगाने के कनवेनशन पर मुत्तफ़िक़ होगए हैं। जिस के तहत उन के इस्तिमाल उन के ज़ख़ीरा की तैय्यारी और मुंतक़ली को ममनू क़रार देता है। ये ममालिक मौजूदा सुरंगों को तबाह करने और उन के मुतास्सिरीन की मदद पर भी आमादा हो गए हैं।

मैं अपील करता हूँ कि पूरी दुनिया उन अहम मुआहिदों में शामिल हो और सुरंगें हटाने के काम में शामिल हो। उन्हों ने कहा कि बारूदी सुरंगें जंग के बाद भी तरक़्क़ी को रोकती हैं और जानों के लिए ख़तरा बनी रहती हैं। हमें दुनिया को महफ़ूज़ बनाने के लिए मिल कर उन्हें ठिकाने लगाना होगा।

जनरल असेंबली के सदर नासिर अबदुल अज़ीज़ एलिना सर ने भी ममालिक से अपील की कि वो जंग के बचे हुए असलहा और गोला बारूद से मुतास्सिरा ममालिक की मदद करें क्यों कि इस के संगीन इंसानी और मआशी नताइज निकलेंगे।

दिसंबर 2005 को अक़वाम-ए-मुत्तहिदा जनरल असेंबली ने 4 अप्रैल को बारूदी सुरंग की आगाही और माइन ऐक्शण में मदद का बैन-उल-अक़वामी दिन क़रार दिया था। इस साल लोगों से कहा गया है कि

वो बारूदी सुरंग के हादिसा में ज़िंदा बच गए लोगों की हिमायत ज़ाहिर करने की ग़रज़ से अपनी पतलून का एक पाइनचा ऊपर चढ़ालीं जिस से ये ज़ाहिर होगा कि किस तरह बारूदी सुरंग और बगै़र फटे हुए गोला बारूद से लोग अपने हाथ पांव खो बैठते हैं और लूले लँगड़े होजाते हैं।

Top Stories