Wednesday , September 19 2018

कांग्रेस और बी जे पी एक ही सिक्के के दो रुख़-तस्लीम रहमानी

वेलफेयर पार्टी के नेशनल सेक्रेटरी तस्लीम रहमानी ने हुम्नाबाद में एक चुनाव जलसे से ख़िताब करते हुए कहा के कांग्रेस और बी जे पी एक ही सिक्के के दो रुख़ है। आज़ादी के बाद इस मुल्क में फ़िर्कापरस्ती का बीज बोया गया।

वेलफेयर पार्टी के नेशनल सेक्रेटरी तस्लीम रहमानी ने हुम्नाबाद में एक चुनाव जलसे से ख़िताब करते हुए कहा के कांग्रेस और बी जे पी एक ही सिक्के के दो रुख़ है। आज़ादी के बाद इस मुल्क में फ़िर्कापरस्ती का बीज बोया गया।

कांग्रेस पार्टी ने ही बाबरी मस्जिद में मूर्ती रखवाई थी, कांग्रेस इस मुल्क में एक दिन भी सेकूलर नहीं रही है,यही नहीं इस मुल्क में कोई भी सियासी जमात सेकूलर नहीं है।

हमारे मुल्क का क़ानून1950 में अमल में आया ,उसके आठ महीने के बाद ही जवाहर लाल नेहरू ने 26 ए ग्स्ट 1950 को आर्टीकल 341में तरमीम की इस क़ानून के तहत रिज़र्वेशन सिर्फ़ दलितों और क़बाईलों को ही मिलेगा अगर कोई दलित मुसलमान बनता है तो उसको रिज़र्वेशन नहीं मिलेगा,उसके बाद ही कांग्रेस का हक़ीक़ी चेहरा बेनकाब होगया।

जलसा के आख़िर में जनाब अकबर अली ने कनड़ा में मुख़्तसर तक़रीर की।इस चुनाव जलसे की निज़ामत मुहम्मद अबदुलसबोर मुर्तज़ा(माइक्रो मोबाईल)ने की और इसकी निगरानी सय्यद मुज़म्मिल मुदर्रिस शादां पब्लिक स्कूल ने की।

TOPPOPULARRECENT