Friday , December 15 2017

कांग्रेस और वाई एस आर कांग्रेस में कोई फ़र्क़ नहीं

हैदराबाद 22 जनवरी :सदर तेलुगु देशम चंद्राबाबू नायडू का आज आंध्र के ज़िला कृष्णा में पुरतपाक ख़ैर मुक़द्दम किया गया । नायडू जो अक्टूबर 2012 से पद यात्रा पर हैं आजमा सिवा हैदराबाद इलाके तेलंगाना के अज़ला का दौरा करके आंध्रमें दाख़िल हुए ज

हैदराबाद 22 जनवरी :सदर तेलुगु देशम चंद्राबाबू नायडू का आज आंध्र के ज़िला कृष्णा में पुरतपाक ख़ैर मुक़द्दम किया गया । नायडू जो अक्टूबर 2012 से पद यात्रा पर हैं आजमा सिवा हैदराबाद इलाके तेलंगाना के अज़ला का दौरा करके आंध्रमें दाख़िल हुए जहां हज़ारों अवाम ने इन का ख़ैर मुक़द्दम क्या ।

नायडू नलगेंडा के सरहदी मौज़ा से ज़िला कृष्णा में दाख़िल हुए । नायडू की आमद पर महसूस किया जा रहा था कि रियासत की तक़सीम के हक़ में मकतूब की मर्कज़ को रवानगी के बाद आंध्र में उन्हें अवामी ब्रहमी का सामना करना पड़ सकता है लेकिन अवाम की बड़ी तादाद की तरफ से उन के ख़ैर मुक़द्दम के बाद तमाम क़ियास आराईयां ख़त्म होगई ।

नायडू की ज़िला कृष्णा में आमद के ख़िलाफ़ एहतिजाज का मंसूबा रखने वाले कांग्रेसी एम पी एल राज गोपाल अपने चंद हामीयों के साथ ज़िला कृष्णा के सरहदी मौज़ा में जमा थे लेकिन तेलुगु देशम कारकुनों-ओ-हज़ारों की तादाद में अवाम के पहुंचने से उनका मंसूबा नाकाम होगया ।

नायडू ने कहा कि उन्हें रियासत की अवाम से इसी तरह के जोश-ओ-ख़ुरोश उम्मीद थी ।सदर तेलुगु देशम ने कहा कि रियासत की अबतर हालत को बेहतर बनाने सिर्फ़ तेलुगु देशम का इक़तिदार ज़रूरी है । उन्हों ने हुकूमत की नाकामियों का तज़किरा करते हुए कहा कि हुकूमत हर महाज़ पर नाकाम होचुकी है और उसका वजूद ना के बराबर होचुका है ।

उन्हों ने बताया कि हुकूमत अवामी मसाइल के हल के बजाए दाख़िली मसाइल में उलझी हुई है । उन्हों ने रियासत की तक़सीम का तज़किरा करते हुए कहा कि रियासत की तक़सीम तेलुगु देशम के इख़तियार में नहीं है । तेलुगु देशम ने हुकूमत को अपनी राए से वाक़िफ़ करवाया है ।

उन्हों ने बताया कि रियासत के अवाम महंगाई के बोझ से परेशान हैं जिन पर हुकूमत मज़ीद महसूलात के अलावा बर्क़ी शरहों में इज़ाफे के ज़रीये इज़ाफ़ी बोझ आइद करने का मंसूबा रखती है ।

नायडू ने बताया कि तेलुगु देशम के दौर में रियासत को बेहतरीन मुक़ाम हासिल हुआ था लेकिन 2004 में कांग्रेस इक़तिदार सँभालने के बाद हालत अबतर होचुकी है । क़ौमी सतह पर रियासत बदउनवानीयों-ओ-बे क़ाईदगियों का मर्कज़ तसव्वुर की जाने लगी है जबके शहर हैदराबाद को आलमी शौहरत-ए-याफ़ता शहर बनाने में तेलुगु देशम ने कोई कसर बाक़ी नहीं रखी और अब इस शहर को बैरूनी रियासत से पहुंचने वाले बदउनवानीयों का दार-उल-हकूमत कहने लगे हैं।

नायडू ने वाई एस आर कांग्रेस को तन्क़ीद का निशाना बनाते हुए कहा कि जो लोग बद उनवानियों और बे क़ाईदगियों के इल्ज़ामात का सामना करते हुए जेल में महरूस हैं वो लोग तेलुगु देशम पार्टी पर तन्क़ीद कररहे हैं । उन्हों ने बताया कि तेलुगु देशम ने अपने दौर में बद उनवानियों-ओ-बे क़ाईदगियों के ख़ातमा की मुम्किना कोशिश की और जब राज शेखर रेड्डी ने इक़तिदार सँभाला और बद उनवानियों का आग़ाज़ हुआ तब भी तेलुगु देशम ने उनको बारहा कार्रवाई करने दिया लेकिन डाक्टर रेड्डी ने तेलुगु देशम के मुतालिबात को नज़रअंदाज करते हुए बद उनवानियों को खुली छूट फ़राहम की जिस के नतीजे में आज उन के फ़र्ज़ंद जेल में हैं ।

उन्हों ने बताया कि वाई एस आर कांग्रेस और कांग्रेस में कोई फ़र्क़ नहीं है । उन्हों ने पेश क़ियासी की के बहुत जल्द वाई एस आर कांग्रेस जगन की रिहाई के इव्ज़ अपनी पार्टी को कांग्रेस में ज़म करदेगी ।

उन्हों ने अवाम से अपील की ककेवो अपने वोट तक़सीम होने से बचाएं चूँकि साबिक़ में डाक्टर राज शेखर रेड्डी ने मुनज़्ज़म साज़िश के तहत एक जमात के ज़रीये मुख़ालिफ़ हुकूमत वोटों की तक़सीम को यक़ीनी बनाया था बादअज़ां वो जमात जो समाजी इंसाफ़ की बात कररही थी कांग्रेस का हिस्सा बिन चुकी है । नायडू ने तेलुगु देशम के मुख़्तलिफ़ मंसूबों और अक़ल्लीयतों-ओ-पसमांदा तबक़ात के लिए तैयार हिक्मत-ए-अमली की तफ़सीलात से वाक़िफ़ करवाया ।

TOPPOPULARRECENT