Friday , December 15 2017

कांग्रेस कारपोरेटर्स वाई एस आर कांग्रेस पार्टी में शामिल

कांग्रेस कारपोरेटर्स की वाई एस आर कांग्रेस पार्टी में शमूलीयत को रोकने के लिये रियासती वज़ीर लेबर-ओ-सदर कांग्रेस ग्रेटर हैदराबाद मिस्टर डी नागेंद्र की जानिब से आज जुबली हाल में तलब कर्दा इजलास (मीटिंग ) में असैंबली हलक़ा जुबली

कांग्रेस कारपोरेटर्स की वाई एस आर कांग्रेस पार्टी में शमूलीयत को रोकने के लिये रियासती वज़ीर लेबर-ओ-सदर कांग्रेस ग्रेटर हैदराबाद मिस्टर डी नागेंद्र की जानिब से आज जुबली हाल में तलब कर्दा इजलास (मीटिंग ) में असैंबली हलक़ा जुबली हिलज़ की नुमाइंदगी करने वाले कांग्रेस के कारपोरेटर्स ने इजलास (मीटिंग) में शिरकत नहीं की । इजलास (मीटिंग ) में वुज़रा कांग्रेस के अरकान असैंबली अरकान पार्ल्यमंट और कारपोरेटर्स के दरमियान ताल मेल के फ़ुक़दान (कमी) , प्रोटोकॉल को नज़रअंदाज करने की शिकायत की गई । मिस्टर एस मुहम्मद वाजिद हुसैन ने बलदी इस्कीमात की उर्दू में तशहीर ना करने पर सवालिया निशान उठाया । ग्रेटर हैदराबाद बलदिया की नुमाइंदगी करने वाले 4 ता 5 कारपोरेटर्स वाई एस आर कांग्रेस पार्टी में शामिल हो चुके हैं ।

मज़ीद कई कारपोरेटर्स वाई एस आर कांग्रेस पार्टी से राबिता में है । कांग्रेस कारपोरेटर्स को कांग्रेस से वाबिस्ता रखने और ग्रेटर हैदराबाद में कांग्रेस पार्टी को मुस्तहकम (मजबूत) करने का जायज़ा लेने के लिये रियासती वज़ीर लेबर-ओ-सदर ग्रेटर हैदराबाद कांग्रेस कमेटी मिस्टर डी नागेंद्र ने बलदिया हैदराबाद के कारपोरेटर्स का इजलास (मीटिंग ) तलब किया जिस में असैंबली हलक़ा जुबली हिलज़ जिस की नुमाइंदगी कांग्रेस के रुक्न असैंबली (एम एल ए) मिस्टर विष़्णुवर्धन रेड्डी करते हैं के कारपोरेटर्स ने इजलास (मीटिंग ) में शिरकत नहीं की और असेंबली हलक़ा सनअत नगर जिस की नुमाइंदगी कांग्रेस के रुक्न असैंबली (एम एल ए) मिस्टर शशी धर रेड्डी करते हैं वहां से सिर्फ एक कारपोरेटर ने शिरकत की ।

भोलकपूर डीवीज़न की नुमाइंदगी करने वाले कारपोरेटर मिस्टर एस मुहम्मद वाजिद हुसैन ने कहा कि तशहीरी लिटरेचर तेलगू और अंग्रेज़ी में होने पर उन्हें कोई एतराज़ नहीं है मगर उर्दू लिटरेचर को नज़रअंदाज करने पर उन्हें सख़्त एतराज़ है आइन्दा से तमाम इस्कीमात और तरकियाती-ओ-फ़लाही इस्कीमात का उर्दू लिटरेचर शाय करने पर ज़ोर दिया ताकि अक़लीयतों की आबादी इन इस्कीमात वगैरह से भरपूर फ़ायदा उठा सके ।

आफ़ात बन्धू इस्कीमात की दरख़्वास्तें , कुलेक्टर के पास ज़ेर इलतवा (पेंडिंग) होने की शिकायत की । बेवा , माज़ूरन और ज़ईफ़ अफ़राद के लिये दीए जाने वाले वज़ीफ़ा की दरख़्वास्तें पहले तहसीलदार के पास जमा की जाती थी इस को ई सेवा से जोड़ देने से फ़ी दरख़ास्त पर 50 रुपय वसूल करने की शिकायत करते हुए इस को दुबारा तहसील ऑफ़िस में जमा करने की सहूलत का एहया-ए-करने का मुतालिबा किया ।

TOPPOPULARRECENT