कांग्रेस का असम के मुख्यमंत्री को ऑफर, बीजेपी छोड़ो और राज्य में हमारी मदद से बनाओ सरकार

कांग्रेस का असम के मुख्यमंत्री को ऑफर, बीजेपी छोड़ो और राज्य में हमारी मदद से बनाओ सरकार

असम विधानसभा में कांग्रेस के नेता प्रतिपक्ष देबब्रत सैकिया ने राज्य के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल को अपने विधायकों सहित भाजपा छोड़ने और राज्य में कांग्रेस के समर्थन से सरकार बनाने का प्रस्ताव दिया है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता का कहना है कि नई सरकार भाजपा विरोधी और नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ होगी।

उन्होंने ऐसे समय पर यह बयान दिया है जब गृह मंत्रालय ने अधिसूचना जारी करते हुए कहा है कि 10 जनवरी से सीएए लागू हो गया है। सैकिया का कहना है कि यदि सोनोवाल अपने 30 विधायकों के साथ भाजपा छोड़ देते हैं तो उनकी पार्टी उनका समर्थन करेगी और यह सुनिश्चित करेगी कि सोनोवाल के नेतृत्व में ही नई सरकार बने।

कांग्रेस नेता ने कहा, ‘असम की वर्तमान परिस्थिति को देखते हुए सोनोवाल को भाजपा छोड़ देनी चाहिए और अपने 30 विधायकों के साथ निर्दलीय के तौर पर सरकार से बाहर आ जाना चाहिए। हम असम में भाजपा विरोधी और सीएए विरोधी सरकार बनाने में उनकी मदद करेंगे। उन्हें दोबारा राज्य का मुख्यमंत्री बनाया जाएगा।’

विपक्ष के नेता ने कहा, ‘भाजपा और उसकी गठबंधन पार्टी असम गण परिषद् अपने चुनावी वादों को पूरा करने में नाकाम रहे हैं। ऑल असम स्टूडेंट्स यूनियन से भाजपा में शामिल होने वाले कई मंत्रियों और विधायकों ने असम समझौते को लागू करने का वादा किया था। समझौते को लागू करने की अनिच्छा के लिए केंद्रीय भाजपा सरकार के खिलाफ विद्रोह करें और भाजपा से बाहर आ जाएं। हम वैकल्पिक सरकार बनाने में उनकी मदद करेंगे।’

यह पूछे जाने पर कि क्या वैकल्पिक सरकार में सोनोवाल मुख्यमंत्री बने रहेंगे तो कांग्रेस नेता ने कहा, ‘हम उनका विरोध नहीं करते हैं। सीएए का समर्थन करने की वजह से सोनोवाल लोगों के गुस्से का सामना कर रहे हैं। जो विधायक और मंत्री असम से प्यार करते हैं तो उन्हें भाजपा छोड़ देनी चाहिए और असम के लोगों के साथ खड़ा होना चाहिए। इसलिए मैं यह प्रस्ताव दे रहा हूं।’

Top Stories