Tuesday , July 17 2018

कांग्रेस का विरोध मूल बाधा नहीं- जय राम रमेश का दावा

नई दिल्ली: कांग्रेस ने आज जीएसटी विधेयक की गैर स्वीकृति के लिए भाजपा के आंतरिक मतभेदों को जिम्मेदार ठहराया और कहा कि प्रस्तावित अप्रत्यक्ष कर को 18 फीसदी तक सीमित किया जाना चाहिए ताकि इस देश के गरीब जनता पर प्रभाव न हो सकें। कांग्रेस नेता जय राम रमेश ने कहा कि कांग्रेस ने आंध्र प्रदेश को विशेष दर्जा का दर्जा देने, जो घरेलू सदस्य बिल पेश किया है उसका उद्देश्य जीएसटी विधेयक को रोकना नहीं है। उन्होंने कहा कि जीएसटी मसले पर सरकार बहुत अधिक विश्वास है तो वह इस विधेयक की पेशकश में क्यों देरी कर रही है।

उन्होंने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि वे (सरकार के प्रतिनिधि) इस संबंध ऊंची दावे करते हैं लेकिन जब कतई कदम उठाने का फैसला आता है तो वह इससे बचते हैं। रमेश ने कहा कि जीएसटी विधेयक को इसलिए राज्यसभा में पेश नहीं किया गया क्योंकि कांग्रेस विपरीत है लेकिन नहीं पेश किया जा रहा है क्योंकि भाजपा का भी एक बड़ा हिस्सा इस विधेयक के संबंध में और प्रभाव के संबंध में भय का शिकार है। यही कारण है कि जीएसटी विधेयक को राज्यसभा में पेश नहीं किया गया है। तथ्य यह है कि खुद प्रधानमंत्री जीएसटी विधेयक के विरोधी थे जब वह गुजरात के मुख्यमंत्री थे। उन्होंने कहा कि उन्हें पता चला है कि अगर जीएसटी विधेयक यूपी चुनाव से पहले पेश किया जाए तो इसके मुद्रास्फीति पर नकारात्मक प्रभाव हो सकते हैं।

TOPPOPULARRECENT