कांग्रेस के कार्यकाल में मीडिया को किसी तरह का डर नहीं था, लेकिन अब डरते हैं- राहुल गांधी

कांग्रेस के कार्यकाल में मीडिया को किसी तरह का डर नहीं था, लेकिन अब डरते हैं- राहुल गांधी
Click for full image

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी के कार्यकाल में मीडिया को किसी तरह का डर नहीं था. वे महाराष्ट्र दौरे पर एक सभा में बोल रहे थे. उन्होंने कहा कांग्रेस के कार्यकाल में मीडिया को खुलकर बोलने की आजादी थी लेकिन अब डरकर बोलते हैं.

मुंबई में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए राहुल ने कहा कि पीएम मोदी अपने गुरु लालकृष्ण आडवाणी का सम्मान नहीं करते हैं. राहुल ने कहा कि उन्हें उनके लिए बुरा लगता है.

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि लोकसभा में भाजपा के मंत्री ही दावा करते हैं कि सबसे ज्यादा बेरोजगारी है. राहुल गांधी ने कहा कि चीन में चौबीस घंटे में चालीस हजार लोगों को रोजगार मिलता है लेकिन बीजेपी के राज में 450 लोगों को रोजगार मिलता है.

राहुल गांधी ने कहा, “एलके आडवाणी पीएम मोदी के गुरु रहे हैं. लेकिन कई मौकों पर मैंने देखा है कि पीएम अपने गुरु का सम्मान भी नहीं करते हैं. मुझे आडवाणी के लिए बुरा लगता है. कांग्रेस पार्टी उन्हें मोदी से ज्यादा सम्मान देती है.”

राहुल गांधी ने कार्यकर्ताओं को पार्टी का सेनापति बताते हुए कहा कि कांग्रेस कभी पार्टी कार्यकर्ताओं से पूछे बिना किसी को टिकट नहीं बांटती. राजस्थान की रणनीति पर बात करते हुए उन्होंने कहा कि राजस्थान में वह शक्ति प्रोजेक्ट तैयार करना चाहता हैं.

पार्टी चाहती है कि हर कार्यकर्ता की आवाज सुनी जाए. वित्त मंत्री अरुण जेटली पर कटाक्ष करते हुए राहुल ने कहा कि अरुण जेटली कहते हैं कि कर्ज माफ करना उनकी पॉलिसी नहीं है. मेक इन इंडिया की बात करते हैं लेकिन गरीब आदमी को एक भी पैसा नहीं देते हैं.

नोटबंदी की आलोचना करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि पीएम ने हंसते हुए नोटबंदी लागू कर दी लेकिन यह नहीं सोचा कि सेना व्यापारी और गरीबों का क्या होगा.

गंठबंधन की राजनीति को बल देते हुए राहुल ने कहा कि गुजरात में बीजेपी बचकर निकली है लेकिन 2019 के चुनाव में विपक्ष मिलकर चुनाव हराएगा. राहुल गांधी ने कहा, ” पीएम की आवाज में घबराहट है लेकिन मेरी आवाज में घबराहट नहीं क्योंकि मैं सच्चाई का सिपाही हूं.”

Top Stories