Tuesday , December 12 2017

कांग्रेस के बाद सी पी आई से भी मुफ़ाहमत से गुरेज़ – टी आर एस

तेलंगाना राष़्ट्रा समीती ने कांग्रेस पार्टी से इंतिख़ाबी मुफ़ाहमत से इनकार कर दिया तो दूसरी तरफ़ मुवाफ़िक़ तेलंगाना सी पी आई से भी इंतिख़ाबी मुफ़ाहमत के इमकानात मौहूम नज़र आरहे हैं। सी पी आई जो तेलंगाना तहरीक में टी आर एस के साथ शाना ब

तेलंगाना राष़्ट्रा समीती ने कांग्रेस पार्टी से इंतिख़ाबी मुफ़ाहमत से इनकार कर दिया तो दूसरी तरफ़ मुवाफ़िक़ तेलंगाना सी पी आई से भी इंतिख़ाबी मुफ़ाहमत के इमकानात मौहूम नज़र आरहे हैं। सी पी आई जो तेलंगाना तहरीक में टी आर एस के साथ शाना बाशाना शरीक रही उस ने जब नशिस्तों पर मुफ़ाहमत के सिलसिले में टी आर एस क़ियादत से रब्त पैदा किया तो उन का रवैया सर्दमहरी का रहा, जिस के बाइस सी पी आई ने कांग्रेस से मुफ़ाहमत की बात-चीत शुरू की है।

बताया जाता है कि चन्द्र शेखर राव नशिस्तों के मसअले पर सी पी आई के शराइत क़ुबूल करने तैयार नहीं। मुफ़ाहमत के लिए तशकील दी गई कमेटी के सदर केशव राव ने अगर्चे सी पी आई क़ाइदीन से बात की लेकिन ये नतीजाख़ेज़ साबित नहीं हुई।

बताया जाता है कि टी आर एस ने असेंबली और लोक सभा के लिए तन्हा मुक़ाबला करने का फ़ैसला किया है। टी आर एस पोलिट ब्यूरो और सीनियर क़ाइदीन ने अगर्चे सी पी आई से इंतिख़ाबी मुफ़ाहमत की ताईद की ताहम चन्द्र शेखर राव उस के हक़ में नहीं हैं।

बताया जाता है कि नशिस्तों पर मुफ़ाहमत की बात-चीत के लिए क़ौमी जेनरल सेक्रेट्री सुधाकर रेड्डी और रियास्ती सेक्रेट्री डॉक्टर के नारायना ने कई मर्तबा टी आर एस क़ियादत से रब्त पैदा किया ताहम उन्हें कोई जवाब नहीं मिला। इसी दौरान सी पी एम ने वाई एस आर कांग्रेस पार्टी से इंतिख़ाबी मुफ़ाहमत के सिलसिले में मुज़ाकरात का आग़ाज़ कर दिया है।

TOPPOPULARRECENT