Tuesday , December 12 2017

कांग्रेस को जम्हूरीयत और जम्हूरी इक़दार पर ईक़ान नहीं

हैदराबाद 30 जनवरी ( सियासत न्यूज़) तेलंगाना राष़्ट्रा समीती ने कांग्रेस पार्टी और कांग्रेस आला कमान को सख़्त तन्क़ीद का निशाना बनाया और कहा कि जम्हूरीयत और जम्हूरी इक़दार पर उसे ईक़ान नहीं है। रुक्न असेंबली रामा राव ने आज प्रेस

हैदराबाद 30 जनवरी ( सियासत न्यूज़) तेलंगाना राष़्ट्रा समीती ने कांग्रेस पार्टी और कांग्रेस आला कमान को सख़्त तन्क़ीद का निशाना बनाया और कहा कि जम्हूरीयत और जम्हूरी इक़दार पर उसे ईक़ान नहीं है। रुक्न असेंबली रामा राव ने आज प्रेस कान्फ़्रैंस से ख़िताब करते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी में किसी भी सतह पर जम्हूरीयत का कोई एहतिराम नहीं है यही वजह है कि तेलंगाना मसअले पर कांग्रेस पार्टी ने अवाम को धोका दिया है।

उन्हों ने इल्ज़ाम आइद किया कि कांग्रेस ने अपने वाअदा से इन्हिराफ़ करते हुए मर्कज़ी वज़ीरे दाख़िला सुशील कुमार शिंदे के ज़रीए तेलंगाना के ख़िलाफ़ बयान जारी कराया जब कि कुल जमाती इजलास में सुशील कुमार शिंदे ने एलान किया था कि अंदरून एक माह वो मसअले तेलंगाना के बारे में कोई फ़ैसला करेंगे। उन्हों ने कहा कि कांग्रेस पार्टी इब्तिदा ही से तेलंगाना मसअले पर धोका दही की एक तारीख़ रखती है।

तेलंगाना मसअले की मुज़ाकरात के ज़रीए यकसूई का दावा करने वाले अरूण कुमार को चाहीए कि वो पहले रियासत की तक़सीम के मुतालिबा को क़ुबूल करें। रामा राव ने सीमा आंध्र के क़ाइदीन की मुहिम को भी तन्क़ीद का निशाना बनाया और कहा कि अरूण कुमार ने राजमुंदरी में जय आंध्र प्रदेश के उनवान से जल्से आम मुनाक़िद करते हुए मर्कज़ी हुकूमत को तेलंगाना के हक़ में फ़ैसला से रोकने की कोशिश की है।

उन्हों ने सवाल किया कि 2004 में कांग्रेस पार्टी ने जिस वक़्त टी आर एस से इंतिख़ाबी मुफ़ाहमत की थी उस वक़्त अरूण कुमार ने क्यों ख़ामोशी अख्तियार की। पार्लियामेंट में मौजूद 42 सयासी जमातों में 36 जमातों ने अलहदा तेलंगाना मुतालिबा की ताईद की है,

क्या अरूण कुमार और सीमा आंध्र के दीगर क़ाइदीन को इस बात से इनकार है? उन्हों ने तेलंगाना से ताल्लुक़ रखने वाले कांग्रेस के अवामी नुमाइंदों से मुतालिबा किया कि वो अपने ओहदों से मुस्ताफ़ी होकर तेलंगाना के हक़ में अपनी संजीदगी का मुज़ाहरा करें।

TOPPOPULARRECENT