Sunday , December 17 2017

कांग्रेस में मां-बेटे के रहते किसी का भला नहीं: मणिशंकर

कांग्रेस में जब तक मां और बेटे की सत्ता है, तब तक किसी का भला नहीं हो सकता। चाहे जितने भी सक्रिय नेता कांग्रेस में हों, वे अध्यक्ष पद तक नहीं पहुंच सकते हैं। कांग्रेस में परिवारवाद शुरू से तय है। यह बात कांग्रेस के पूर्व मंत्री एवं वरिष्ठ नेता मणिशंकर अय्यर ने कसौली में कही।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस में राहुल गांधी या उनकी मां सोनिया गांधी के अलावा कोई तीसरा नेता अध्यक्ष पद की चाह नहीं रख सकता। यह वंशवाद की परंपरा है, जो शायद कभी खत्म नहीं होगी।

अय्यर ने कहा कि कांग्रेस भले ही उन्हें अपना न मानती हो, लेकिन वे जन्म से कांग्रेसी विचारधारा से जुड़े हैं। जब तक सक्रिय रहेंगे, पार्टी में रहकर काम करेंगे।

उन्होंने कहा कि वे कांग्रेस वर्किंग कमेटी का चुनाव लड़ेंगे। इससे उन्हें कोई नहीं रोक सकता। बकौल मणिशंकर- चुनाव के बाद जो पद उन्हें मिलेगा, उसका जिम्मेदारी से निर्वहन करूंगा। उन्होंने पूर्व राज्यसभा सदस्य अरुण शौरी को भी कांग्रेस में शामिल होने का न्योता दिया है।

TOPPOPULARRECENT