Monday , December 18 2017

कांग्रेस हुकूमतें सैक्यूलर किरदार शक-ओ-शुबा से बालातर : चीफ़ मिनिस्टर

हैदराबाद१‍५नवंबर ( सियासत न्यूज़) चीफ़ मिनिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी और उसकी ज़ेर इक़तिदार मर्कज़ी-ओ-रियास्ती हुकूमतें मुलक में सब से ज़्यादा सैकूलर हुकूमतें हैं, और पार्टी और हुकूमतें अक़ल्लीयतों-ओ-ख

हैदराबाद१‍५नवंबर ( सियासत न्यूज़) चीफ़ मिनिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी और उसकी ज़ेर इक़तिदार मर्कज़ी-ओ-रियास्ती हुकूमतें मुलक में सब से ज़्यादा सैकूलर हुकूमतें हैं, और पार्टी और हुकूमतें अक़ल्लीयतों-ओ-खासतौर पर मुस्लिम अक़ल्लीयत की भलाई के अह्द की पाबंद हैं। मुख़्तलिफ़ अज़ला और हैदराबाद से ताल्लुक़ रखने वाले मज़हबी रहनुमा और अमाइदीन पर मुश्तमिल एक 50रुकनी वफ़द ने आज चीफ़ मिनिस्टर से कैंप ऑफ़िस पर मुलाक़ात की और मसाजिद, चरचस की तामीरकीलए 15 करोड़ रुपय मंज़ूर करने पर चीफ़ मिनिस्टर से इज़हार-ए-तशक्कुर(शुक्रिया) किया।

मौलाना अब्बू उल-कलाम आज़ाद के यौम-ए-पैदाइश के मौक़ा पर यौम अक़ल्लीयती बहबूद तक़रीब से ख़िताब करते हुए चीफ़ मिनिस्टर ने अक़ल्लीयतों की भलाई के सिलसिला में जो ऐलानात किए थे इस का ख़ौरमक़दम किया। उल्मा और क़ाइदीन से चीफ़ मिनिस्टर ने कहा कि उन की हुकूमत ने जारीया साल अक़ल्लीयती बहबूद के बजट में इज़ाफ़ा करके 489करोड़ किया है जबकि 2004-05 के दौरान अक़ल्लीयती बहबूद का बजट सिर्फ़ 30करोड़ था। इन क़ाइदीन ने वक़्फ़ बोर्ड के लिए 15करोड़ की ग्रांट मंज़ूर किए जाने पर चीफ़ मिनिस्टर से इज़हार-ए-तशक्कुर(शुक्रिया) किया।

चीफ़ मिनिस्टर ने कहा कि अक़ल्लीयती तलबा के लिए मसह बिकती इमतिहानात की तैय्यारी कीलईमज़ीद तीन कोचिंग सैंटरस बहुत जल्द निज़ाम आबाद, कड़पा और चित्तूर अज़ला में क़ायम किए जाएंगी। हैदराबाद, गुंटूर, विशाखापटनम और कुरनूल में पहले ही चार कोचिंग सैंटरस क़ायम हैं। चीफ़ मिनिस्टर ने कहा कि अक़ल्लीयतों की भलाई के लिए रियासत मेंकई प्रोग्राम्स पर अमल किया जा रहा ही। किरण कुमार रेड्डी ने कहा कि 17हज़ार अक़ल्लीयती तलबा को 2004-05 के दौरान स्कालर शपस मंज़ूर की गई हैं जिसकी मालियत 2करोड़ थी लेकिन अब इस में इज़ाफ़ा करके 230 करोड़ रुपय बतौर स्कालरशिप 1.5लाख तलबा को जारी किए जा रहे हैं। उन्हों ने अक़ल्लीयतों के लिए 2004-ए-में मुतआरिफ़ 4फ़ीसद तहफ़्फुज़ात का ज़िक्र करते हुए कहा कि इन तहफ़्फुज़ात के सबब 30239 अनजीनरस, एक हज़ार से ज़ाइद डॉक्टर्स तैय्यार हुए हैं।

उन की हुकूमत ने इन तहफ़्फुज़ात को मज़ीद 10बरसों के लिए तौसीअ दी ही। चीफ़ मिनिस्टर ने कहा कि पुलिस महिकमा में हालिया तक़र्रुत के दौरान 60मुस्लिम नौजवान सब इन्सपैक्टरस की हैसियत से मुंतख़ब हुए और ये तहफ़्फुज़ात के सबब मुम्किन होसका। चीफ़ मिनिस्टर ने कहा कि 2000 विद्या वालीनटरस का मदारिस में राजीव विद्या मिशन के ज़रीया तक़र्रुर किया गया। हैदराबाद के पुराने शहर में हर 100मकानात के लिए एक वालीनटर का तक़र्रुर किया गया ताकि तलबा को मदारिस में दाख़िला दिलाया जाए। इस सहूलत को बहुत जल्द रियासत भर में तौसीअ दी जाएगी। उन्हों ने बताया कि अक़ल्लीयती तलबा के लिए एससी, एसटी तलबा के मुमासिल मैस चार्जस में इज़ाफ़ा किया गया है।

किरण कुमार रेड्डी ने कहा कि चारमीनार यूनानी तिब्बी हॉस्पिटल की तरक़्क़ी के लिए 4.5करोड़ रुपय मंज़ूर किए गए और पुराने शहर के बेरोज़गार नौजवानों को राजीव यूह करना लो स्कीम के तहत ट्रेनिंग देने के मक़सद के तहत नैशनल एकेडेमी आफ़ कंस्ट्रक्शन ट्रेनिंग सैंटर पुराने शहर में क़ायम कियागया। पुराने शहर में 3नए डिग्री कॉलिजस की इमारतों की मंज़ूरी दी गई और क़ुली क़ुतुब शाह अर्बन डीवलपमनट अथॉरीटी को पुराने शहर में तरक़्क़ीयाती कामों पर अमल आवरी के लिए 15करोड़ रुपय जारी किए गई। उलमा-ओ-क़ाइदीन के वफ़द ने चीफ़ मिनिस्टर को बताया कि पुराने शहर के तमाम मज़ाहिब और तबक़ात के अफ़राद की अक्सरीयत सैकूलर है और वो किसी फ़िर्कावाराना गड़बड़ में मुलव्वस (सना हुआ)नहीं होंगी।

उन्हों ने चीफ़ मिनिस्टर से दरख़ास्त की कि वो बलालहाज़ मज़हब फ़िकऱ्ापरस्त अनासिर के ख़िलाफ़ कार्रवाई करें और उन्हें हैदराबाद के अमन और सैकूलर किरदार को मुतास्सिर करने की इजाज़त ना दी जाई। वफ़द के अरकान ने ओक़ाफ़ी जायदादों के उमोर-ओ-अक़ल्लीयती फ़ीनानस कारपोरेशन के अस्क़ाम की जामि तहक़ीक़ात के बारे में चीफ़ मिनिस्टर की तवज्जा मबज़ूल कराई। वफ़द में हैदराबाद-ओ-सिकंदराबाद के इलावा रंगा रेड्डी के इलावा कुरनूल, खम्मम, नलगनडा, आदिल आबाद, निज़ाम आबाद, करीमनगर और दीगर इलाक़ों के क़ाइदीन शरीक थी।

वफ़द में शामिल अहम क़ाइदीन में जनरल सैक्रेटरी कांग्रेस आबिद रसूल ख़ां के इलावा मौलाना सफ़ी अल्लाह वक़ार पाशाह, मौलाना ग़ुलाम समदानी, मौलाना सय्यद हामिद, मौलाना क़ुतुब कादरी, मौलाना लियाक़त हुसैन रिज़वी, मौलाना फ़ज़ल अल्लाह कादरी, मौलाना रॶफ़ बग़्दादी, डाक्टर ए ए ख़ां ( नलगनडा ) मुहम्मद जावेद ( खम्मम ) साजिद ख़ां ( आदिल आबाद) ताहिर बिन हमदान ( निज़ाम आबाद ) शामिल हैं।

TOPPOPULARRECENT