Friday , April 20 2018

कांग्रेस 29 अप्रैल को दिल्ली में करेगी रैली, ‘लोगों को हो रही है घुटन महसूस’

कांग्रेस प्यार, सहनशीलता, सद्भाव, अहिंसा और भयमुक्त समाज के मॉडल की राजनीति का संकल्प लेकर दिल्ली के रामलीला मैदान में 29 अप्रैल को प्रदर्शन रैली करेगी। कांग्रेस के संगठन महासचिव अशोक गहलोत ने कहा कि देश के वर्तमान हालात में लोगों को घुटन महसूस हो रही है। गहलोत ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी करुणा, प्यार और शांति से लोकतांत्रिक राजनीति करने में विश्वास करते हैं, जबकि मोदी सरकार देश में लोकतांत्रिक संस्कृति को कमजोर कर रही है।

प्रधानमंत्री मोदी को बताया लोकतांत्रिक संस्कृति कमजोर करने वाला

गहलोत ने कहा कि हमारी व्यक्तिगत नहीं संघर्ष या सिद्धातों, नीतियों की लड़ाई है। झूठे वादे कर मोदी जी ने अच्छे दिन आने की बात की थी। लेकिन चार सालों में किसी वर्ग ने महसूस नहीं किया कि अच्छे दिन आ गए हैं। व्यापार चौपट हो गए, आर्थिक स्थिति खराब, संवैधानिक संस्थाएं कमजोर होती जा रही हैं। स्मार्ट सिटी, डिजिटल इंडिया, स्किल डेवलेपमेंट जैसी सरकारी योजनाएं धरातल पर नहीं है। कानून व्यवस्था ध्वस्त हो चुकी है।

क्या ये उपमा उन पर लागू नहीं होती

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के विपक्षी दलों को कुत्ते-बिल्ली, सांप-नेवला से संबोधित करने पर गहलोत ने कहा कि बौखलाहट में उन्हें क्या बोलना है, पता ही नहीं है। कांग्रेस सरकार में थी, तब भी विपक्षी पार्टी, जिसमें जनसंघ हो या भाजपा, विपक्षी गठबंधन में शामिल होती थी। उनको सोचना चाहिए कि क्या ये उपमा उनके लिए लागू नहीं होती हैं।

प्रधानमंत्री के बयान पर दिया जवाब

प्रधानमंत्री के इस बयान पर कि मैं गरीब घर का हूं, विपक्ष मुझे हटाना चाहती है पर गहलोत ने कहा कि लोकतंत्र में कौन किसे हटा सकता है। केवल जनता ही हटा सकती है। ये बौखलाहट में बातें कर रहे हैं। गहलोत ने कहा कि गुजरात चुनाव में मोदी ने वादों और राहुल गांधी के सवालों पर कोई जवाब न दिए। बस ये कहते रहे कि मैं यहां का हूं, बाहर के लोग आकर मेरी बेइज्जती कर रहे हैं। लेकिन अब ये सब नहीं चलेगा।

TOPPOPULARRECENT