कानून बनाने वाले फेल हो रहे हैं, नेताओं को संसद में चप्पल चलाने और माइक्रोफोन फेंकने से मतलब- जस्टिस इकबाल अंसारी

कानून बनाने वाले फेल हो रहे हैं, नेताओं को संसद में चप्पल चलाने और माइक्रोफोन फेंकने से मतलब- जस्टिस इकबाल अंसारी

पटना हाई कोर्ट के चीफ जस्टि‍स इकबाल अहमद अंसारी ने गुरुवार को लोकतंत्र की खूबसूरती बताते हुए, देश के राजनीतिक हालात पर गंभीर टिप्पणी की. यही नहीं, उन्होंने अफसोस जताते हुए कहा कि जिस उद्देश्य की पूर्ति के लिए नेताओं को चुनकर सदन भेजा जाता है, वह पूरा नहीं हो रहा, क्योंकि उन्हें तो सिर्फ माइक्रोफोन फेंकने से मतलब है. उन्होंने कहा कि कानून बनाने वाले फेल हो रहे हैं.

मुख्य न्यायाधीश अपने सम्मान में आयोजित एक समारोह में बोल रहे थे. न्यायमूर्ति इकबाल अहमद अंसारी ने इशारों-इशारों में राजनेताओं पर कड़ा प्रहार करते हुए कहा, ‘जिनको हमने भेजा है कानून बनाने के लिए, वो कानून बनाते हैं या नहीं बनाते हैं, ये फैसला तो आपको करना है.’

Top Stories