काबीना का फैसला : वालिदैन को सताया तो देने होंगे हर महीने ‌10 हजार रूपए

काबीना का फैसला : वालिदैन को सताया तो देने होंगे हर महीने ‌10 हजार रूपए
जाईफ मां-बाप को सताने वालों की अब खैर नहीं। रियासती हुकूमत ऐसी औलादों और अहले खाना पर इक़्तेसादी जुर्माना लगाएगी। अगर वालिदैन के इल्ज़ाम सही पाए गए तो सताने वाले बच्चों को उन्हें हर महीने 10 हजार रुपए तक देने होंगे। यह फैसला जुमेरात

जाईफ मां-बाप को सताने वालों की अब खैर नहीं। रियासती हुकूमत ऐसी औलादों और अहले खाना पर इक़्तेसादी जुर्माना लगाएगी। अगर वालिदैन के इल्ज़ाम सही पाए गए तो सताने वाले बच्चों को उन्हें हर महीने 10 हजार रुपए तक देने होंगे। यह फैसला जुमेरात को कैबिनेट की बैठक में लिया गया। समाज बोहबुद, खातून और बच्चे की तरक़्क़ी का महकमा के तजवीज पर झारखंड रियासत वालिदैन और सीनियर शहरियों के परवरिश और बोहबुद दस्तूरुल अमल -2014 पर कैबिनेट ने अपनी मुहर लगा दी।

बैठक के बाद काबीना सेक्रेटरी जेबी तुबिद ने बताया कि मुनासिब देखभाल नहीं होने और सताए जाने पर जाईफ वालिदैन समाज बोहबुद महकमा के अफसर को दरख्वास्त दे सकते हैं। तहक़ीक़ात में अगर वालिदैन के इल्ज़ाम सही पाए गए तो बच्चों पर उसकी हैसियत के मुताबिक इक़्तेसादी जुर्माना लगाया जाएगा। यह जुर्माना ज़्यादा से ज़्यादा 10 हजार रुपए फी माह तक हो सकती है। कैबिनेट ने कुल 16 तजवीजों पर अपनी मुहर लगाई।

सैलाब मुतासीरों के लिए पांच करोड़ देगा झारखंड

कैबिनेट ने जम्मू-कश्मीर में आई सैलाब में फंसे झारखंड और वहां के लोगों को मदद पहुंचाने का फैसला लिया। तय हुआ कि रियासती हुकूमत सैलाब मुतासीरों की मदद के लिए पांच करोड़ रुपए देगी। साथ ही कश्मीर के सैलाब मुतासीर इलाकों में फंसे झारखंड के लोगों को रांची भी लाएगी। इसके लिए 15 सितंबर तक श्रीनगर में हुकूमत कैंप लगाएगी, जिसमें कई बड़े अफसर और मुलाज़िमीन शामिल होंगे।

कन्यादान मंसूबा रकम दोगुनी

समाज बोहबुद महकमा के तजवीज को मंजूरी देते हुए कैबिनेट ने वजीरे आला कन्यादान मंसूबा की रकम दोगुनी कर दी है। पहले इस मंसूबा में 15 हजार रुपए मिलते थे, पर अब 30 हजार रुपए मिलेंगे। इसी रकम में से फाइदा लेने वाले को 24 कैरेट का पांच ग्राम सोने का सिक्का भी दिया जाएगा। यह सिक्का किसी क़ौमी बैंक से खरीदे जाएंगे। कैबिनेट ने इस फैसले को एक अप्रैल 2014 से लागू किया है।

Top Stories