Monday , December 11 2017

काबुल में नैटो के क़ाफ़िले पर हमला 4 शहरी हलाक

एक ख़ुदकुश हमला आवर ने काबुल में नैटो के क़ाफ़िले को निशाना बनाकर हमला किया जिस में चार शहरी हलाक और कम अज़ कम दीगर सात ज़ख़्मी हो गए। दारुल हुकूमत में ये ताज़ा तरीन ख़ुदकुश हमला था। जब कि सियासतदानों के दरमयान मुतनाज़ा इंतिख़ाबी नत

एक ख़ुदकुश हमला आवर ने काबुल में नैटो के क़ाफ़िले को निशाना बनाकर हमला किया जिस में चार शहरी हलाक और कम अज़ कम दीगर सात ज़ख़्मी हो गए। दारुल हुकूमत में ये ताज़ा तरीन ख़ुदकुश हमला था। जब कि सियासतदानों के दरमयान मुतनाज़ा इंतिख़ाबी नताइज के बारे में सफ़ आराई जारी है।

नैटो फ़ौज ने हमला पर फ़ौरी कोई तबसरा नहीं किया। ग़ैर मुल्की फ़ौजी तेज़ी से अपनी जंगी कार्यवाहीयां बंद करते हुए तालिबान शोर्श पसंदों के ख़िलाफ़ अपनी 13 साला जंग इख़तेताम पर अफ़्ग़ानिस्तान से तख़लिया की तैयारी कर रही है। 11:30 बजे दिन ग़ैर मुल्की फ़ौज का एक क़ाफ़िला ख़ुदकुश बम बर्दार के हमला की ज़द में आगया जिस से चार शहरी हलाक और दीगर सात ज़ख़्मी हो गए।

वज़ारते दाख़िला के तर्जुमान सादिक़ सिद्दीक़ी ने अपने ट्वीटर पर तहरीर किया कि ये हमला ख़ुदकुश बम बर्दार हमला था। तालिबान के तर्जुमान ने कहा कि इस हमला की ज़िम्मेदारी शोर्श पसंद क़ुबूल करते हैं।

14 जून के इंतिख़ाबात में कामयाबी का क़तई फ़ैसला 80 लाख राय दहिन्दे कर चुके हैं ताहम रायदही में धांदलियों की अब्दुल्लाह अब्दुल्लाह की शिकायात के बाद तमाम वोटों की दोबारा जांच की जा रही है।

TOPPOPULARRECENT