Sunday , December 17 2017

कायेदिनों के भरोसे न रहें अकलियत : आल मुसलिम यूथ एसोसिएशन

रांची 27 जून : आल मुसलिम यूथ एसोसिएशन (आमया) की तरफ से अकलियतों के हुकूक और उनके तरक्की के लिए साल 2010 से 2013 के दरमियान किये गये तहरीक और कामयाबियों की रिपोर्ट कार्ड जारी किया। बुध को मदरसा इसलामिया में सदर एस अली, सेक्रेटरी, आवामी इत्ते

रांची 27 जून : आल मुसलिम यूथ एसोसिएशन (आमया) की तरफ से अकलियतों के हुकूक और उनके तरक्की के लिए साल 2010 से 2013 के दरमियान किये गये तहरीक और कामयाबियों की रिपोर्ट कार्ड जारी किया। बुध को मदरसा इसलामिया में सदर एस अली, सेक्रेटरी, आवामी इत्तेला आफिसर इमरान अंसारी और देहि अज़ला सदर मो फुरकान ने कहा कि इन्तेखाबात आने वाला है। अब सियासतदान अकलियतों के सामने वादों की झड़ी लगा देंगे।

कायेदिनों के भरोसे न रहें अकलियत। उन्होंने लोगों से गुजारिश की कि इत्तेला के हुकूक के तहत मालूमात हासिल करें। जद्दोजहद कर अपना हुकूक हासिल करें। उन्होंने बताया कि एक एमपी ने गुजिस्ता दिनों गवर्नर से मिलकर अकलियती माली और तरक्की कॉर्पोरेशन कायम की मांग कर दी, जबकि इसका तशकील 12 जुलाई 2012 को ही हो चुका है।

उन्होंने बताया कि आल मुसलिम यूथ एसोसिएशन की कोशिस से मुश्तरका सेक्रेटरी ने जुनुबी छोटानागुपर व संताल परगना के कमिश्नर को मल्टी सेक्टोरल डेवलपमेंट प्लान (एमएसडीपी) के तहत साल 2008 – 09 से लेकर साल 2012 -13 के दरमियान हुए काम की जांच का हुक्म दिया है।

एमएसडीपी मंसूबा का दायरा बढ़ाया गया है। अब यह 44 ब्लाक में लागू है।13 जून को हुक्म जारी किया गया कि छूट गये अकलियती अक्सरियत ब्लाक और 50 फीसद अकलियत वाले गावों को एमएसडीपी में शामिल किया जाये। अकलियत स्कूल में बुनयादी ढांचा बहाल करने के लिए सानुयी तालीम डायरेक्टोरेट ने मर्क़ज से हिदायत मांगा है। एसोसिएशन की तरफ से अकलियतों के फलाह के लिए किये गये कोशिशों को भी इस रिपोर्ट में शामिल किया गया है।

TOPPOPULARRECENT