Friday , January 19 2018

कारगिल पर फखर नहीं शर्म करो मुशर्रफ

नई दिल्ली, 29 मार्च: कारगिल जंग पर फखर जताने वाले साबिक पाकिस्तानी सदर जनरल परवेज मुशर्रफ के तब्सिरे मखतलिफ सयासी जमाअतों को बेहद नागवार गुजरी है।

नई दिल्ली, 29 मार्च: कारगिल जंग पर फखर जताने वाले साबिक पाकिस्तानी सदर जनरल परवेज मुशर्रफ के तब्सिरे मखतलिफ सयासी जमाअतों को बेहद नागवार गुजरी है।

मुल्क के सभी हम जमाअतो ने एक सुर में इस तब्सिरे की मज़म्मत करते हुए कहा कि कारगिल में घुसपैठ के ज़रिए से दो मुल्कों पर जंग थोपने के लिए मुशर्रफ को फखर ज़ाहिर करने की बजाए शर्म महसूस करना चाहिए।

कांग्रेस, बीजेपी समेत मुखतलिफ पार्टियों ने इस तब्सिरे से हिंदुस्तान और पाकिस्तान के रिश्तों पर मनफ़ी असर पड़ने के ख़दशात जताते हुए मुशर्रफ से अफसोस ज़ाहिर करने की भी मांग की।

कांग्रेस के तर्जुमान राशिद अल्वी ने मुशर्रफ के तब्सिरे को बदकिस्मती करार दिया। उन्होंने कहा कि हम समझते थे कि दोनों मुल्कों के बीच जंग करा कर वह शर्मिंदा होंगे, लेकिन इस तब्सिरे से इस इल्ज़ाम को ज़ोर मिलता है कि पाकिस्तान की के कहने और करने में बड़ा फर्क है।

अल्वी ने वार्निंग देते हुए कहा कि ऐसे तब्सिरे से दोनों मुल्कों के रिश्ते तल्ख होंगे। बीजेपी के तर्जुमान राजीव प्रताप रूडी ने भी इस तब्सिरे की मुज़म्मत की ।

उन्होंने कहा कि मुशर्रफ को यह नहीं भूलना चाहिए कि उनकी कोशिशों से हिंदुस्तान पर थोपे गए ज‍ंग का हिंदुस्तानी फौज ने करारा जवाब दिया था। क्या उन्हें पाकिस्तान को मिली करारी शिकस्त पर भी फखर है?

रूडी ने कहा कि हालांकि यह मुशर्रफ का चुनावी स्टंट है, लेकिन इससे यह भी साफ हो गया है कि अगर वह इक्तेदार/ सत्ता में आए तो तालिबान के हामियों को पूरी मदद देंगे।

भाकपा सेक्रेटरी डी राजा ने भी इस तब्सिरेको चुनावी स्टंट बताते हुए मुशर्रफ को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि दो मुल्कों को जंग के दलदल में घसीटने पर कोई भी फखर नहीं कर सकता।

मालूम नहीं मुशर्रफ किस बात पर फखर कर रहे हैं। उन्हें अपने किए पर शर्म आनी चाहिए और इस तब्सिरे के लिए फौरन अफसोस ज़ाहिर करना चाहिए। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि भड़काऊ तब्सिरे से मुशर्रफ अपनी खोई जमीन पाना चाहते हैं, इसलिए उनके तब्सिरे को ज्यादा अहमियत देने की कोई जरूरत नहीं है।

समाजवादी पार्टी के लीडर कमला फारुकी ने इस तब्सिरे से दोनों मुल्कों के रिश्तों पर बुरा असर पड़ने का खद्शा जताया है। उन्होंने कहा कि मुशर्रफ हिंदुस्तान और पाकिस्तान के रिश्ते को खराब करने के लिए पहले भी बेतुकी और भड़काऊ तब्सिरे कर चुके हैं। सभी को मालूम है कि यह तब्सिरा सयासी फायदे लेने के लिए है, लेकिन इससे दोनों मुल्कों के बीच बेवजह तनाव के हालात पैदा होंगे।

TOPPOPULARRECENT