कारोबारी पिता ने मारा थप्पड़ तो बेटे ने करवा दी हत्या

कारोबारी पिता ने मारा थप्पड़ तो बेटे ने करवा दी हत्या

दिल्ली के केमिकल का कारोबार करने वाले अनिल खेड़ा की हत्या मामले में एक सनसनीखेज खुलासा हुआ है. दरअसल, इस हत्या का आरोप अनिल खेड़ा के कलुयगी बेटे गौरव पर लगा है.

पुलिस ने गौरव को गिरफ्तार कर लिया है.पुलिस  के मुताबिक अनिल ने गौरव को थप्पड़ मारा था, इसके बाद उसने अपने पिता की हत्या करवाने की ठान ली. वारदात को अंजाम देने के लिए गौरव ने 5 लाख रुपये में 2 सुपारी किलर हायर किए थे.

 

क्राइम ब्रांच के एडिशनल सीपी अजीत सिंगला ने बताया, अनिल की बीते 21 मई को साहिबाबाद इलाके में हत्या कर दी गई थी. तब वह अपने कारोबार के सिलसिले में एक मीटिंग के बाद बाहर निकले थे. इसी दौरान बाइक पर सवार बदमाशों ने फायरिंग शुरू कर दी. पुलिस के मुताबिक कातिलों ने अनिल को नजदीक से गोलियां मारी थी. इसके बाद साहिबाबाद थाने में हत्या का केस दर्ज किया गया. लेकिन गाजियाबाद पुलिस किसी को गिरफ्तार नहीं कर सकी.

इसी दौरान दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच को एक खुफिया सूचना के आधार पर कातिलों के बारे में भनक लगी. पुलिस ने हत्या के आरोप में अनिल के बेटे गौरव खेड़ा के अलावा उसके दोस्त विशाल गर्ग और भाड़े के एक हत्यारे सादिक को गिरफ्तार किया है. जबकि एक सुपारी किलर शमशेर अब भी फरार है.

पुलिस के मुताबिक गौरव बुरी आदतों का आदी है. वह पिता के पैसे से जुआ और सट्टा खेलता था, लेकिन पिता को जैसे ही बेटे की बुरी आदतों के बारे में पता चला उन्होंने पैसे देने बंद कर दिए. पुलिस ने बताया कि एक दिन झगड़े में पिता अनिल खेड़ा ने गौरव को थप्पड़ मार दिया. इसके बाद गौरव ने पिता की हत्या करवाने की ठान ली.

 

गौरव ने अपने दोस्त विशाल गर्ग को पिता के कारोबार में 25 प्रतिशत हिस्सा देने का वादा कर 2 सुपारी किलर हायर करने के लिए कहा. विशाल ने शमशेर और सद्दाम को 5 लाख रुपये में हायर किया और हत्या को अंजाम दे दिया. वायदे के मुताबिक 5 लाख रुपये शमशेर को दिए गए लेकिन उसने सुपारी किलर सादिक को 50 हज़ार रुपये ही दिए. इसी बात को लेकर गौरव और सादिक में झगड़ा चल रहा था. इसकी जानकारी क्राइम ब्रांच को लगी और आरोपी पकड़े गए. फिलहाल, पुलिस शमशेर की तलाश कर रही है.

Top Stories