Monday , December 18 2017

काले धन को बचाने के लिए सहाफ़त(जर्नलिज्म) का सहारा जगन के असासों(संपतीयों) के ख़िलाफ़ सी बी आई की कार्रवाई दरुस्त : चंद्रा बाबू

हैदराबाद । (सियासत न्यूज़) सी बी आई की जानिब से जगन मोहन रेड्डी के कारोबारी इदारों(संस्थाओं) के खाते मुंजमिद(सील) करना सहाफ़ती(जर्नलिज्म) आज़ादी के ख़िलाफ़ नहीं है।

हैदराबाद । (सियासत न्यूज़) सी बी आई की जानिब से जगन मोहन रेड्डी के कारोबारी इदारों(संस्थाओं) के खाते मुंजमिद(सील) करना सहाफ़ती(जर्नलिज्म) आज़ादी के ख़िलाफ़ नहीं है।

सदर तेल्गुदेशम मिस्टर एन चंद्रा बाबू नायडू ने सी बी आई की कार्रवाई और साक्षी के खातों के इंजिमाद(सिल) का दिफ़ा करते हुए कहा कि जगनमोहन रेड्डी अपने काले धन को बचाने के लिए सहाफ़त(जर्नलिज्म) का सहारा लेने की कोशिश कर रहे हैं। मिस्टर नायडू ने इल्ज़ाम आइद किया कि जगनमोहन रेड्डी सहाफ़त(जर्नलिज्म) की आड़ में अपनी मुजरिमाना सरगर्मियों की पर्दा पोशी कर (छुपा)रहे हैं।

उन्हों ने इस्तिफ़सार(सवाल) किया कि अगर भानू किरण जो कि सूरी के क़तल का मुल्ज़िम है अगर वो अख़बार शुरू करले तो कया उसे छोड़ दिया जाएगा। सदर तेल्गुदेशम ने सी बी आई की जानिब से खातों को मुंजमिद(सिल) करने को तहक़ीक़ाती अमल का हिस्सा क़रार देते हुए याद दिहानी करवाई(याद दिलाया) कि 2G स्पकट्रम मुआमला में डी एम के के टेली वीज़न चैनल के खाते भी मुंजमिद (सिल)किए गए थे लेकिन इस वक़्त किसी ने उसे सहाफ़ती आज़ादी पर ज़रब(रोक) क़रार नहीं दिया।

मिस्टर नायडू ने खातों के इंजिमाद(बंद करने) को तहकीकात में पेशरफ़्त(काम्याबी) से ताबीर करते हुए कहा कि बहुत जल्द जगन मोहन रेड्डी और डाक्टर वाई एस राज शेखर रेड्डी के दीगर अफ़राद ख़ानदान(खान्दान के दुसरे लोगों) की जानिब से बदउनवानीयों ‍ ओर‌बे क़ाईदगियों के ज़रीया हासिल की गई दौलत का इन्किशाफ़ होगा(को लोगों के साम्ने लाया जाएगा)।

TOPPOPULARRECENT