Wednesday , December 13 2017

किरण और बोतसा में कोई झगड़ा या इख़तेलाफ़ात नहीं

चीफ़ मिनिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी और सदर प्रदेश कांग्रेस कमेटी बोतसा सत्य ना रायना के दरमयान इख़तेलाफ़ात की तरदीद करते हुए मर्कज़ी वज़ीर और सदर कांग्रेस सोनीया गांधी के ख़ुसूसी नुमाइंदा वायलार रवी ने दावा किया है के दोनों क़

चीफ़ मिनिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी और सदर प्रदेश कांग्रेस कमेटी बोतसा सत्य ना रायना के दरमयान इख़तेलाफ़ात की तरदीद करते हुए मर्कज़ी वज़ीर और सदर कांग्रेस सोनीया गांधी के ख़ुसूसी नुमाइंदा वायलार रवी ने दावा किया है के दोनों क़ाइदीन मुशतर्का तौर पर काम कर रहे हैं। मिस्टर रवी ने अख़बारी नुमाइंदों के मुख़्तलिफ़ सवालात का जवाब देते हुए कहा कि ख़ुशक़िसमती की बात है कि कोई ऐसा शख़्स मेरे पास नहीं आया और ना ही किसी ने इन दोनों क़ाइदीन के दरमयान इख़तिलाफ़ात या रसा कशी की शिकायत की।

मिस्टर रवी ने कहा कि वो दोनों आपस में नहीं लड़ रहे हैं। हत्ता कि किसी आम कांग्रेसी कारकुन ने भी मुझ से ऐसी कोई शिकायत नहीं की है और मुझे ताज्जुब है कि आया किस तरह अख़बारी नुमाइंदे इस किस्म की बातें कर रहे हैं। मिस्टर रवी ने मज़ीद कहा कि किसी ने भी मिस्टर किरण कुमार रेड्डी और मिस्टर सत्य ना रायना के दरमयान इख़तिलाफ़ात या रसा कशी की बात नहीं की।

हाँ ये बात ज़रूर है कि चंद अख़बार वालों ने मुझ से इस ज़िमन में कुछ कहा है। उन्हों ने कहा कि मुझे यक़ीन है कि चीफ़ मिनिस्टर और सदर प्रदेश कांग्रेस अपनी पार्टी की कामयाबी के लिए मुत्तहदा-ओ-मुशतर्का तौर पर काम कर रहे । एक हफ़्ता कब्ल या दो हफ़्ता कब्ल मिस्टर किरण कुमार रेड्डी से मैंने बातचीत की थी और गुज़शता रोज़ दो मर्तबा उन से टेलीफ़ोन पर बातचीत कर चुका हूँ और मैंने गुज़शता रोज़ भी यही कहा था कि कोई इख़तिलाफ़ात नहीं हैं और आज भी मेरा यही तास्सुर है।

मैं बोतसा सत्य ना रायना से मुलाक़ात कर चुका हूँ और किरण आज रात नई दिल्ली से वापिस होंगे। इन से भी बातचीत की जाएगी। वाज़ेह रहे कि मिस्टर किरण कुमार रेड्डी और मिस्टर बोतसा सत्य ना रायना को हाल ही में दिल्ली तलब किया गया था। इन दोनों को हिदायत की गई थी कि वो पार्टी को मुस्तहकम बनाने के लिए मुत्तहदा तौर पर काम करें।

इस सवाल पर कि आया रियास्ती क़ाइदीन के साथ बातचीत के दौरान किसी ख़ास मौज़ू की निशानदेही की गई है। मिस्टर रवी ने जवाब दिया कि मर्कज़ और रियास्ती हुकूमत की फ़लाही इसकीमात से अवाम को मज़ीद वाक़िफ़ कराने पर ज़ोर दिया गया है क्योंकि ये फ़लाही इसकीमात अवाम के लिए शुरू की गई हैं, जिन से अवाम को बाख़बर करने की ज़रूरत है।

मिस्टर रवी ने कहा कि उन्हों ने आज कांग्रेस के कई क़ाइदीन से मुलाक़ात की, जिन में वुज़रा, अरकान असेंबली, साबिक़ वुज़रा वग़ैरा भी शामिल हैं। इन तमाम से बातचीत के दौरान आइन्दा ज़िमनी इंतिख़ाबात के मौज़ू पर ही ख़ुसूसीयत के साथ गुफ़्त-ओ-शुनीद(बात चीत) की गई। मिस्टर वायलार रवी ने कहा कि मुझे कांग्रेसियों की एक उमूमी राय मौसूल हुई है कि आया वो सूरत-ए-हाल को मजमूई तौर पर किस तरह देखते हैं।

ख़ानगी मुलाक़ातों में की गई बातचीत पर मै मज़ीद कुछ कहना नहीं चाहता। अक्सर क़ाइदीन का आम एहसास था कि वो पार्टी को मज़ीद मुस्तहकम बनाना चाहते हैं और इस मक़सद के लिए वो पूरे अज़म-ओ-इरादे के साथ काम करना चाहते हैं और हम से प्रोग्राम चाहते हैं। हम उन्हें प्रोग्राम देंगे। मिस्टर रवी जो ज़िमनी इंतिख़ाबात से रियासत में कांग्रेस की सूरत-ए-हाल का जायज़ा लेने के लिए यहां पहूंचे हैं।

TOPPOPULARRECENT