Friday , December 15 2017

किरण कुमार रेड्डी अब नज़म-ओ-नसक़ पर गिरिफ़त हासिल करने कोशां

हैदराबाद 8 फ़रवरी (सियासत न्यूज़) चीफ़ मिनिस्टर मिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी गुज़श्ता दिन तक अपनी काबीना में तौसीअ-ओ-क़लमदानों में रद्दोबदल करने में मसरूफ़ थे और इस मस्रूफ़ियत के ख़तम होने के साथ चीफ़ मिनिस्टर ने अब रियास्ती सतह

हैदराबाद 8 फ़रवरी (सियासत न्यूज़) चीफ़ मिनिस्टर मिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी गुज़श्ता दिन तक अपनी काबीना में तौसीअ-ओ-क़लमदानों में रद्दोबदल करने में मसरूफ़ थे और इस मस्रूफ़ियत के ख़तम होने के साथ चीफ़ मिनिस्टर ने अब रियास्ती सतह परनज़म-ओ-नसक़ पर गिरिफ़त हासिल करने केलिए आई ए ऐस और आई पी ऐस ओहदेदारों के तबादलों पर संजीदगी से ग़ौर शुरू करदिया है। समझा जाता है कि मिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी गुज़श्ता चंद माह क़बल तक बिलख़सूस उन के ख़िलाफ़ अप्पोज़ीशन तेलगूदेशम पार्टी की पेश करदा तहरीक अदमे इअतिमाद तक काफ़ी परेशान दिखाई देते थे लेकिन जब उन्हों ने रियास्ती असम्बली में अप्पोज़ीशन जमातों को तहरीक अदमे इअतिमाद की पेश करदा नोटिस में नाकाम बनाकर ऐवान का ख़त एतिमाद हासिल करलिया तब से वो ग़ैर मामूली तौर पर इंतिहाई चाक़-ओ-चौबंद और हश्शाश बश्शाश दिखाई देने लगे हैं।

चीफ़ मिनिस्टर के क़रीबी बावसूक़ ज़राए के मुताबिक़ बताया जाता है कि मिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी ने असम्बली में एतिमाद का वोट जीत कर कांग्रेस हाईकमान के पास भी अपना एक मुनफ़रद मुक़ाम बनालिया जिस की वजह से चीफ़ मिनिस्टर आज कांग्रेस पार्टी हाईकमान से मज़ीद क़ुरबत हासिल करने की कोशिश में मामूली सलाह-ओ-मश्वरा हासिल करने के लिए दिल्ली का दौरा करने और बिलख़सूस कांग्रेस पार्टी हाईकमान के पास सदर प्रदेश कांग्रेस पार्टी के मुक़ाबला में सबक़त लेजाने और रियास्ती मसाइल को कांग्रेस पार्टी हाईकमान के रूबरू पेश करने से गुरेज़ नहीं कररहे हैं बल्कि सब से पहले वो ख़ुद मसाइलको हाईकमान के सामने रखते हुए अपनी ताईद में कांग्रेस हाईकमान से मंज़ूरी हासिल करने में कामयाब होरहे हैं।

हालिया अर्सा के दौरान मिस्टर चिरंजीवी की ज़ेर-ए-क़ियादत प्रजा राज्यम पार्टी के कांग्रेस में ज़म होजाने के बाद इस पार्टी से ताल्लुक़ रखने वाले अरकान असम्बली को काबीना में शामिल करने के मसला पर भी चीफ़ मिनिस्टर मिस्टर किरण कुमार रेड्डी ने ही अपनी ग़ैरमामूली नौईयत की कामयाबी हासिल की। मिस्टर चिरंजीवी ने एक से ज़ाइद मर्तबा कांग्रेस हाई कमान से मुलाक़ात करके अपने अरकान असम्बली को ज़्यादा से ज़्यादा रियास्ती काबीना में मुक़ाम दिलवाने के लिए मोस्सर इक़दामात किए थे। बताया जाता है कि मिस्टर चिरंजीवी ने कांग्रेस हाईकमान से गुज़श्ता दिनों अपनी आख़िरी मुलाक़ात के दौरान उन के कम अज़ कम तीन अरकान तेलंगाना, आंधरा और राइलसीमा से एक एक को काबीना में शामिल करवा लेने की मंज़ूरी हासिल की थी।

लेकिन मिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी ने मिस्टर चिरंजीवी की इस कोशिश को नाकाम बनाने के लिए फ़िलफ़ौ रदिल्ली का दौरा किया और कांग्रेस क़ियादत को रियासत की मौजूदा सयासी सूरत-ए-हाल से वाक़िफ़ करवाते हुए अपनी हिक्मत-ए-अमली में कामयाबी हासिल करके मिस्टर चिरंजीवी के सिर्फ दो अरकान को काबीना में शामिल करने को महदूद कर रख दिया। और बिलआख़िर सिर्फ दो वुज़रा राइलसीमा और साहिली आंधरा से ताल्लुक़ रखने वालों को काबीना में शामिल करने को महिदूद किया। इलावा अज़ीं रियास्ती काबीना में गुज़श्ता माह दो वुज़रा के ज़रीया तौसीअ करने पर बिलख़सूस इलाक़ा तेलंगाना के कांग्रेस क़ाइदीन में पाई जाने वाली बेचैनी-ओ-नाराज़गियों का फ़ौरी अंदाज़ा लगाते हुए इमकानी तौर पर पार्टी मेंअंदरूनी ख़लफ़िशार के ख़दशा को पेशे नज़र रखते हुए

फ़िलफ़ौर पार्टी हाईकमान से रुजू होकर रियासत के सयासी हालात से वाक़िफ़ करवाकर तेलंगाना कांग्रेस क़ाइदीन को ख़ुश करने और हालात पर क़ाबू पाने के लिए फिर एक बार अपनी नई हिक्मत-ए-अमली के साथ दिल्ली का दौरा किया और कांग्रेस हाईकमान को एतिमाद में लेते हुए तीन वुज़रा के ज़रीया फिर एक बार अपनी काबीना में तौसीअ की पार्टी हाईकमान से मंज़ूरी हासिल करली और दिल्ली से काबीना में तौसीअ की तारीख़ और वक़्त का ताय्युन करते हुए रियास्ती गवर्नर को भी मतला करदिया और रियास्ती चीफ़ सैक्रेटरी को भी काबीना में तौसीअ के लिए इंतिज़ामात मुकम्मल करने की हिदायत दे दी।

बावसूक़ ज़राए के मुताबिक़ दिल्ली से हैदराबाद वापसी तक भी यही इत्तिलाआत पाई जा रही थीं कि इलाक़ा तेलंगाना से तीन अरकान असम्बली को रियास्ती काबीना में शामिल किया जाएगा। मसरस जय कृष्णा राउ और के वेंकट रेड्डी ने अलैहदा रियासत तेलंगाना के मुतालिबा पर वज़ारती ओहदों सेअस्तीफ़ा दे दिया था और डाक्टर पी शंकर राउ को उन की मुख़ालिफ़ हुकूमत सरगर्मीयों की बुनियाद पर ख़ुद चीफ़ मिनिस्टर मिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी ने काबीना से अलैहदा करदिया था, इस तरह तेलंगाना कांग्रेस क़ाइदीन इस बात से ख़ुश होरहे थे कि मज़कूरा तीनों के मख़लवा वज़ारती ओहदों पर तेलंगाना से ताल्लुक़ रखने वाले तीन अरकान को काबीना में शामिल किया जाएगा लेकिन चीफ़ मिनिस्टर मिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी ने दो तेलंगाना और एक साहिली आंधरा से ताल्लुक़ रखने वाले रुकन असम्बली को काबीना में शामिल करते हुए तेलंगाना कांग्रेस क़ाइदीन (अरकान असम्बली ) वग़ैरा की ख़ुशीयों पर पानी फेर दिया।

इस तरह मिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी किसी क़दर अपनी सयासी गिरिफ़त मज़बूत करने की कोशिश में कामयाबी हासिल कर लेने के साथ अब रियास्ती नज़म-ओ-नसक़ में बेहतरी पैदा करने के नाम पर आई ए ऐस और आई पी ऐस ओहदेदारों पर भी अपनी गिरिफ़त हासिल करने-ओ-रोब जमाने केलिए कोशां दिखाई दे रहे हैं। बावसूक़ ज़राएके मुताबिक़ चीफ़ मिनिस्टर मिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी ने रियास्ती चीफ़ सैक्रेटरी मिस्टर पंकज दीवीदी और रियास्ती डायरैक्टर जनरल आफ़ पुलिस मिस्टर वे दिनेश रेड्डी से ज़िला और रियास्ती सतह के आई ए ऐस और आई पी ऐस ओहदेदारों की तबदीली-ओ-तबादलों के मसला पर काफ़ी देर तक तबादला-ए-ख़्याल किया।

चीफ़ मिनिस्टर के क़रीबी सरकारी ज़राए के मुताबिक़ चीफ़ मिनिस्टर मिस्टर किरण कुमार रेड्डी ने चीफ़ सैक्रेटरी और डायरैक्टर जनरल आफ़ पुलिस से अलैहदा रियासत तेलंगाना जद्द-ओ-जहद और मुत्तहदा आंधरा प्रदेश जद्द-ओ-जहद के सिलसिला में तीनों इलाक़ों के एहितजाजी अफ़राद के ख़िलाफ़ दर्ज करदा मुक़द्दमात से दसतबरदारी इख़तियार करने केलिए क़ानूनी पहलूओं पर तबादला-ए-ख़्याल किया और इस तरह आइन्दा भी इमकानी जद्द-ओ-जहद की सूरत में पैदा होने वाले हालात पर भी तफ़सीली ग़ौर-ओ-ख़ौज़ किया गया।

TOPPOPULARRECENT